कन्हैयालाल हत्याकांड: 20 पुलिस अफसरों को भेजे नोटिस, प्रमोशन और पोस्टिंग पर भी रोक, जानें क्या है मामला?

इंडिया न्यूज, Udaipur News। Kanhaiyalal Murder Case: राजस्थान के उदयपुर में 20 पुलिस अधिकारियों व कर्मचारियों 16 सीसी व 17 सीसी के नोटिस जारी किए गए हैं। जिसके बाद से पुलिस विभाग में हड़कंप मचा गया है। बता दें कि ये नोटिस उन अधिकारियों और कर्मचारियों को भेजे गए हैं जो 3 माह पहले हुए टेलर कन्हैयालाल तेली हत्याकांड के मामले में उदयपुर में तैनात थे। बताया जा रहा है कि इन सभी पर लापरवाही का आरोप है।

जांच पूरी होने तक न प्रमोशन मिलेगी और न ही फील्ड पोस्टिंग

जानकारी अनुसार जिनको 16 सीसी के नोटिस दिए गए हैं, उन्हें जांच चलने तक न तो प्रमोशन मिलेगी और न ही फील्ड पोस्टिंग। इन नोटिस के जरिये संबंधित थानों के इंचार्ज और पुलिसकर्मियों की घटनाक्रम में रही चूक को लेकर जिम्मेदारी तय की गई है। पुलिस मुख्यालय से जारी आदेशों के तहत कन्हैयालाल हत्याकांड के समय धानमंडी, सूरजपोल, भूपालपुरा व सुखेर थाने के तत्कालीन अधिकारियों व पुलिस कर्मचारियों को नोटिस दिए गए हैं।

थानों में पहले ही पहुंच गई थी शिकायत

सूत्रों से मिली जानकारी अनुसार इनमें प्रमुख थाना धानमंडी है, जिसके हलके में कन्हैयालाल की हत्या हुई थी। इससे पहले इसी क्षेत्र में उसे धमकी दी गई थी और बाद में थाने में समझौता हुआ था। दूसरा थाना भूपालपुरा है, जिसके हलके में कलेक्ट्री भी आती है। यहां 20 जून को नुपूर शर्मा की पैगम्बर मोहम्मद पर कथित विवादित टिप्पणी के खिलाफ आंदोलन हुआ था, जहां आपत्तिजनक नारेबाजी हुई थी।

गंभीरता से नहीं लिया गया मामला

पुलिस ने इसको गंभीरता से नहीं लिया था। वहीं, तीसरा थाना सूरजपोल है, जिसके हलके में मुख्य आरोपी रियाज मोहम्मद अत्तारी व गौस मोहम्मद रहते हैं, उसी क्षेत्र में हत्याकांड की साजिश रची गई थी। चौथा थाना सुखेर हैं, जिसके हलके में स्थित फैक्ट्री में आरोपियों ने हत्याकांड के बाद वीडियो बनाकर जारी किया था। इन सभी मामलों में थानाधिकारी से लेकर बीट इंचार्ज तक की लापरवाही मानी गई है।

यह है मामला…

ज्ञात रहे कि बीती 28 जून को उदयपुर में टेलर कन्हैयालाल तेली की कट्टरपंथी रियाज मोहम्मद अत्तारी व गौस मोहम्मद ने चाकू से गर्दन काटकर हत्या कर दी थी। इसके बाद वीडियो बनाकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी धमकी दी गई थी। राजस्थान पुलिस ने 4 घंटे बाद आरोपियों को अजमेर के रास्ते में भीम के पास गिरफ्तार कर लिया गया था। बाद में मामले की जांच एनआईए को सौंप दी गई थी।

ये भी पढ़े : अशोक गहलोत के गृह नगर में सचिन पायलट के पोस्टर, चर्चाओं का दौर शुरू

ये भी पढ़े : “प्रिंसिपल ने मुझे मारा है, कल मैं उन्हें गोली मार दूंगा,” 12वीं के छात्र ने दी थी धमकी, नमस्ते करते ही मारी 3 गोलियां

ये भी पढ़े : यूपीएससी की तैयारी करने वाला छात्र अचानक घर से गायब, तलाश में जुटी पुलिस

ये भी पढ़े : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अगले सप्ताह लॉन्च करेंगे 5जी, जानें कब से मिलेंगी सेवाएं?

ये भी पढ़े : भारी बारिश और भूस्खलन के कारण गंगोत्री चारधाम यात्रा पर रोक, श्रद्धालुओं के लिए हिदायत जारी

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे !

Connect With Us : Twitter | Facebook Youtube

Latest news
Related news