हिमाचल में मूसलाधार बारिश के कारण 100 सड़कें बंद, 176 ट्रांसफार्मर भी ठप

इंडिया न्यूज, Shimla News। Rain In Himachal : हिमाचल प्रदेश के कई इलाकों में मूसलाधार बारिश के कारण करीब 100 सड़कें बंद हैं। बुधवार से लगातार बारिश हो रही है और कई जगह भूस्खलन व पत्थर गिरने की वजह से सड़क मार्ग बाधित हो गए हैं।

जानकारी के अनुसार किन्नौर में चीन अधिकृत तिब्बत बार्डर को जोड़ने वाला नेशनल हाईवे 5 और पर्यटन नगरी मनाली से कनेक्ट करने वाले एनएच-21 सहित प्रदेश में 99 सड़कें बंद हो गई है। 176 बिजली के ट्रांसफार्मर भी ठप हैं। एनएच-5 भी झाकड़ी के पास आधे घंटे तक बंद रहा। मनाली में भारी भूस्खलन के बाद सड़क क्षतिग्रस्त होने से एनएच-21 बंद हो गया है।

कुल्लू, सिरमौर और सोलन में ज्यादा नुकसान

वैकल्पिक मार्ग भी कटोला में भूस्खलन से बाधित हो गया है। इससे कुल्लू से मनाली पहुंचना आना जाना मुश्किल हो गया है। संबंधित विभाग सड़क बहाल करने में जुटा हुआ है। इसी तरह अन्य सड़कों पर जगह-जगह भूस्खलन से लोगों की आवाजाही और सेब की ढुलाई प्रभावित हो रही है। ताजा बारिश के बाद कई ग्रामीणों क्षेत्रों में सड़कों का नामो-निशां तक मिट गया। कुल्लू, सिरमौर और सोलन में ज्यादा नुकसान की सूचना है।

इन जगहों हुई सड़के अवरूद्ध

राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के अनुसार, कुल्लू जिला में 29 और सिरमौर में 28 सड़कें अवरूद्ध पड़ी हैं। सोलन में 24 सड़कें, बिलासपुर में 3, चंबा 4, कांगड़ा, लाहौल स्पीति, शिमला में एक-एक सड़क और मंडी में 9 सड़कें बंद पड़ी है। उधर, सिरमौर जिला में भारी बारिश के 117 बिजली के ट्रांसफॉर्मर बंद हो गए हैं। वहीं मंडी में 22 और कुल्लू में भी 37 ट्रांसफार्मर बंद होने से बिजली का आपूर्ति बाधित हुई है।

610 करोड़ की सरकारी व गैर सरकारी संपत्ति का नुक्सान

राज्यभर में बारिश के दौरान 610 करोड़ रुपए की सरकारी व गैर सरकारी संपत्ति तबाह हो गई हैं। अकेले पीडब्ल्यूडी की 324 करोड़ और जल शक्ति विभाग की 265 करोड़ रुपए की संपत्ति तबाह हो चुकी है।

अब तक 153 की हो चुकी है मौत

आपको बता दें कि मानसून के पहले 36 दिनों में बाढ़, भीषण सड़क हादसों और अचानक बाढ़ आने की घटनाओं में 153 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि 251 व्यक्ति घायल हुए। शिमला में सबसे ज्यादा 25 और कुल्लू जिला में 21 लोगों की जान गई। कुल्लू की मणिकर्ण घाटी में बाढ़ की चपेट में आए 4 लोगों समेत कुल 6 व्यक्ति करीब एक माह से लापता हैं।

79 मकान जमींदोज, 240 आंशिक रूप से तबाह

मानसून की बारिश ने कई लोगों से आशियाना छीनकर उन्हें बेघर किया। राज्यभर में 79 मकान जमींदोज हुए, जबकि 240 मकान आंशिक रूप से तबाह हुए। ऐसे घरों में भी लोगों की रातें दहशत में बीत रही हैं। बारिश में 35 दुकानों, 7 लेबर शेड, 235 गऊशालाएं और 14 घाट भी तबाह हुए हैं। इनमें 105 पालतू मवेशी भी काल का ग्रास बने हैं।

ये भी पढ़े : यंग इंडिया आफिस में फिर छापेमारी, ईडी के सामने पेश हुए मल्लिकार्जुन खड़गे

ये भी पढ़े : हंगामे के बाद लोकसभा की कार्यवाही दिनभर के लिए स्थगित

ये भी पढ़े :  हरियाणा के दिग्गज नेता कुलदीप बिश्नोई बीजेपी में शामिल

ये भी पढ़े :  शिंदे गुट की उसे असली शिवसेना मानने व पार्टी का चुनाव चिह्न देने की याचिका पर अभी फैसला न करे चुनाव आयोग : सुप्रीम कोर्ट

ये भी पढ़े : पंद्रह अगस्त से पहले आतंकी हमले का अलर्ट

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे 

Latest news
Related news