Haryana : धान खरीद का आश्वासन मिलने के बाद किसानों ने खोला जीटी रोड

  • शाहाबाद में नेशनल हाईवे पर 21 घंटे से था जाम 

इंडिया न्यूज, चंडीगढ़, (Farmers Remove Jam In Haryana GT Road): हरियाणा में राष्ट्रीय राजमार्ग-44 (जीटी रोड) को किसानों ने सरकार से आश्वासन मिलने के बाद आज खोल दिया। धान की सरकारी खरीद शुरू नहीं हुई थी और इसी से नाराज होकर किसानों ने शुक्रवार से जीटी रोड बाधित कर दिया था। जिला प्रशासन से उन्हें धानों की खरीद का आश्वासन मिला है और 20 घंटों से ज्यादा समय के बाद जाम खोलने का निर्णय लेने के बाद किसान अब सड़क से अपना सामान समेटने लगे हैं।

ये भी पढ़े : संयुक्त राष्ट्र में भारत ने कश्मीर मसले पर तुर्की के बाद पाकिस्तान को भी दिया करारा जवाब

हाईवे पर ट्रैफिक बहाल, सभी डायवर्जन हटाए : पुलिस

भारतीय किसान यूनियन (भाकियू) के अध्यक्ष गुरनाम सिंह चढ़ूनी ने बताया कि प्रशाासन ने हमारी मांगें मान ली हैं और इसके बाद सड़क से हटने का निर्णय लिया गया। चढ़ूनी के अनुसार अधिकारियों ने जल्द धान की खरीद शुरू करवाने के लिए आश्वस्त किया है। पुलिस अधीक्षक सुरिंदर सिंह भोरिया ने कहा, हमने किसानों से बात की है और मामले को सौहार्दपूर्ण तरीके से सुलझा लिया गया है। उन्होंने बताया कि हाईवे पर ट्रैफिक बहाल कर दिया गया है। इसी के साथ सभी डायवर्जन हटा दिए गए हैं।

ये भी पढ़े : आफत बनी बेमौसम बारिश, फसलें बर्बाद, बिजली गिरने से इतने लोगों की मौत

हाईकोर्ट पहुंचा था मामला, देर रात तक हुई सुनवाई

जीटी रोड जाम होने से लोगों को हो रही दिक्कतों को देखते हुए कल देर रात एडवोकेट रणदीप तंवर ने पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट में याचिका दायर की थी। याचिका पर जस्टिस एजी मसीह की खंडपीठ ने देर रात तक सुनवाई की और इसके बाद प्रदेश सरकार को जाम खुलवाने के लिए आगाह किया था। कोर्ट ने सरकार को सुनिश्चित करने का आदेश दिया था कि किसान यूनियन के जाम से आम आदमी को भी परेशानी न हो और ट्रैफिक भी सुचारू रूप से चलता रहे। किसान नेता गुरनाम सिंह को याचिका में कोर्ट ने प्रतिवादी बनाने का आदेश दिया है।

चढ़ूनी के नेतृत्व में कल सुबह बैरिकेड तोड़कर जीटी रोड पर पहुंचे थे किसान

गुरनाम सिंह चढ़ूनी के नेतृत्व में कल सुबह बैरिकेड तोड़कर किसान जीटी रोड पर पहुंचे थे। इसके बाद शहीद उधम स्मारक परिसर में मंडी के नोडल अफसर कपिल शर्मा किसानों के बीच पहुंचे व उन्हें भरोसा दिलाया कि सरकार द्वारा किसानों की प्रति एकड़ 22 से 28 क्विंटल धान खरीद की मांग मान ली गई है,पर धान की सरकारी खरीद शुरू करने को लेकर अभी अधिकारियों से बात जारी है। इसके बाद चढूनी ने प्रशासन को 45 मिनट दिए थे। उन्होंने कहा था कि यदि धान खरीद के लिए पॉजिटिव पहल नहीं हुई तो जीटी रोड जाम किया जाएगा।

ये भी पढ़े : देश के कई राज्यों में जारी रहेगी बारिश, अलर्ट के चलते कई जगह स्कूल बंद

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे !

Connect With Us : Twitter | Facebook Youtube

 

Latest news
Related news