लोकप्रिय मल्टी मीडिया प्लेयर वीएलसी भारत में बैन, बड़ी वजह आई सामने

इंडिया न्यूज, नई दिल्ली (VLC Media Player): लैपटॉप में वीडियो देखनी हो या मोबाइल फोन में, ज्यादातर यूजर्स कोई भी मूवी देखने के लिए मल्टी मीडिया प्लेयर वीएलसी को ही इस्तेमाल करते हैं। लेकिन आगे ऐसा होना मुमकिन नहीं लग रहा। रिपोर्ट के मुताबिक सबसे लोकप्रिय मल्टी मीडिया प्लेयर सॉफ्टवेयर और स्ट्रीमिंग मीडिया सर्वर में से एक वीएलसी को भारत में प्रतिबंधित कर दिया गया है।

बताया गया है कि VideoLAN प्रोजेक्ट द्वारा विकसित लोकप्रिय मीडिया प्लेयर सॉफ़्टवेयर को लगभग 2 महीने पहले भारत में प्रतिबंधित कर दिया गया था। हालांकि यदि सॉफ़्टवेयर पहले से ही किसी डिवाइस पर स्थापित है, तो यह अभी भी काम करेगा। वीएलसी प्लेयर के बैन के बारे में अभी तक न तो कंपनी और न ही भारत सरकार ने कोई आधिकारिक बयान जारी किया है।

पेरिस की फर्म ने किया विकसित

वीएलसी को पेरिस की एक फर्म वीडियोलैन द्वारा विकसित किया गया है। वर्ष 2010 से डिजिटल फ्रीडम की मुहिम चला रही २ा’ू.्रल्ल के दावे के मुताबिक भारत सरकार के आईटी अधिनियम, 2000 के तहत प्रतिबंधित किया गया है। वर्तमान में, देश में केवल वीएलसी मीडिया प्लेयर वेबसाइट और डाउनलोड लिंक पर प्रतिबंध है। अगर आपके सिस्टम में पहले से वीएलसी है तो इस पर वीडियो प्ले कर सकते हैं।

कई बार हुए साइबर हमले

बताया गया है कि चीन समर्थित एक हैकिंग ग्रुप सिकाडा इस प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल साइबर हमले के लिए कर रही थी। कुछ महीने पहले सुरक्षा विशेषज्ञों ने पाया कि सिकाडा लंबे समय से साइबर हमले की मुहिम में एक मालवेयर लोडर के लिए वीएलसी मीडिया प्लेयर का उपयोग कर रहा था।

ये भी पढ़ें : ढाई महीने बाद आया आईपीओ, सिरमा एसजीएस टेक्नोलॉजी में निवेश करें या नहीं

ये भी पढ़ें : शेयर बाजार में तेजी लेकिन रुपया हुआ 3 पैसे कमजोर

ये भी पढ़ें : 2023 से बाजार में नहीं दिखेगा जॉनसन एंड जॉनसन बेबी पाउडर, जानिए इसकी बड़ी वजह

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे !

Connect With Us : Twitter | Facebook Youtube

Latest news
Related news