गणतंत्र दिवस पर कौन होगा इस बार चीफ गेस्ट, कैसे और कहां मिलेगा परेड का टिकट,यहां पढ़िए

इंडिया न्यूज़,दिल्ली:(Republic Day Parade 2023 Chief Guest,Ticket & Entry) हमारा देश इस साल 26 जनवरी 2023 को अपना 74वां गणतंत्र दिवस (74th Republic Day) मनाने जा रहा है। कर्तव्य पथ पर परेड (Republic Day Parade) की तैयारी जोर शोर से की जा रही है। गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पिछले साल सितंबर में राजपथ का नाम बदलकर कर्तव्य पथ रख दिया था। यह देश के लिए पहला मौका होगा जब यहां गणतंत्र दिवस की परेड होगी। गणतंत्र दिवस की परेड में देश के प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति,उपराष्ट्रपति, गृहमंत्री और रक्षामंत्री समेत मंत्रीपरिषद के अन्य नेताओं के साथ ही विपक्ष के तमाम सभी बड़े नेता भी शामिल होते हैं।

इसके साथ ही देश के आम और खास लोग भी शामिल होते हैं। इसके अलावा अन्य देशों से अतिथियों को भी आमंत्रित किया जाता है। केंद्र सरकार हर बार गणतंत्र दिवस के मौके पर किसी देश के राष्ट्राध्यक्ष को आमंत्रित करती आई है और अब यह एक प्रथा बन गई है। भारत के इस शौर्य और पराक्रम के पल का साक्षी बनने के लिए प्रत्येक वर्ष राजपथ से लेकर लाल किले तक लाखों लोगों की भीड़ जुटती है।

 मिस्र के राष्ट्रपति होंगे रिपब्लिक डे के चीफ गेस्ट

हर साल गणतंत्र दिवस पर विदेशी चीफ गेस्ट बुलाने की परंपरा के तहत इस बार रिपब्लिक डे के मौके पर इजिप्ट यानी मिस्र के राष्ट्रपति अब्देल फतेह अल सिसी (Abdel Fatttah El-Sisi) को आमंत्रित किया गया है।

 कैसे और कहां मिलेगी परेड की टिकट?

गणतंत्र दिवस के आयोजन के लिए टिकटों की ऑनलाइन खरीद 6 जनवरी से शुरू भी हो चुकी है। वहीं,टिकट काउंटरों पर 9 जनवरी से ही लोग व्यक्तिगत रूप से अपनी टिकट खरीद रहे हैं गणतंत्र दिवस परेड के लिए टिकट रक्षा मंत्रालय के वेब पोर्टल www.amantran.gov.in के माध्यम से ऑनलाइन खरीदे जा सकते हैं। ऑनलाइन पोर्टल के अलावा, गणतंत्र दिवस के टिकट सेना भवन गेट नंबर 2, शास्त्री भवन गेट नंबर 3, मेन गेट जंतर-मंतर और गेट नंबर 1 प्रगति मैदान से ऑफलाइन खरीदे सकता हैं।

क्यों मनाते हैं गणतंत्र दिवस?

संविधान के लागू होने के बाद पहले से चले आ रहे अंग्रेजों का कानून जिसे Government of India Act (1935) कहते हैं, को भारतीय संविधान के जरिये भारतीय शासन दस्तावेज के रूप में बदल दिया गया। इसलिए हर साल हम भारतवासी 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस के रूप में मनाते है। भारत 26 जनवरी 1950 को सुबह 10 बजकर 18 मिनट पर एक गणतंत्र राष्ट्र बना।

Also Read: आज है दिल्ली का मेयर चुनाव, फिर AAP-BJP के भिड़ने के आसार

Latest news
Related news