यूपी बन रहा टेक्सटाइल हब, तीन महीनों में छह मिलें शुरू करेंगी उत्पादन

यूपी बन रहा टेक्सटाइल हब, तीन महीनों में छह मिलें शुरू करेंगी उत्पादन

अजय त्रिवेदी, लखनऊ

उत्तर प्रदेश में अगले तीन महीनों में गाजियाबाद, नोयडा व कानपुर में स्थापित हो रही छह कपड़ा मिलों में उत्पादन शुरू हो जाएगा। करीब 97 करोड़ रुपये निवेश से लग रही इन मिलों में 1500 से ज्यादा लोगों को रोजगार मिलेगा। इसके अलावा 10 नयी कपड़ा मिलों के प्रदेश सरकार ने जमीन आवंटित कर दी है और जल्द ही इन पर भी काम शुरू हो जाएगा।
वस्त्र उद्योग विभाग के अधिकारियों के मुताबिक इन दस कपड़ा मिलों में 442 करोड़ रुपये का निवेश होगा और 2713 लोगों को रोजगार मिलेगा। इसके साथ ही गौतमबुद्धनगर में एक टेक्सटाइल पार्क तथा मथुरा में 300 करोड़ रुपए का निवेश कर स्थापित की जाने वाले एक बड़ी टेक्सटाइल मिल के लिए भी विकास प्राधिकरणों ने भूमि आवंटित कर दी है। जल्दी ही टेक्सटाइल पार्क तथा टेक्सटाइल मिलों के निर्माण का कार्य शुरू होगा। विभाग के अधिकारियों का कहना है कि बीते चार वर्षों में देश के 66 बड़े उद्योगपतियों ने उत्तर प्रदेश में इस सेक्टर में 8715.16 करोड़ रुपए का निवेश किया है। इन 66 टेक्सटाइल मिलों की स्थापना होने पर 5.25 लाख लोगों को रोजगार मिलना है। अब तक 66 में से 15 टेक्सटाइल मिलें राज्य में लग गई हैं। इन फैक्ट्रियों के निर्माण में 756.91 करोड़ रुपए का निवेश हुआ है और 4800 लोगों को रोजगार मिला है।
वस्त्र उद्योग विभाग के अधिकारियों के मुताबिक कानपुर प्लास्टिपैक लिमिटेड ने कानपुर देहात में दो सौ करोड़ रुपए,आरपी पॉली पैक्स ने पाली बैग के उत्पादन के लिए रनिया में डेढ़ सौ करोड़ रुपए, जीएलकेके इंडस्ट्री ने रूमा कानपुर में फैब्रिक उत्पादन के लिए 25 करोड़ रुपए का निवेश किया है। सृष्टि इंडस्ट्री ने कानपुर देहात में निटिंग फैक्ट्री लगाई है। गैजेस अपैरल ने गारमेंट तथा अनिलिखा फैब्रिक ने होजरी क्लाथ मिल कानपुर में लगाई है। कानपुर के अलावा राजलक्ष्मी काटन मिल्स ने 50 करोड़ का निवेश कर नोयडा में रेडीमेड गारमेंट और कल्याणी इनरवियर ने गाजियाबाद में इनर गारमेंट की फैक्ट्री लगाई है। टीटी लिमिटेड ने 50 करोड़ का निवेश कर अमरोहा में गारमेंट और सनविन टेक्सटाइल ने बदायूं में लेस फैब्रिक्स की फैक्टी लगाई है। शुद्ध प्लस हैजीन प्रोडक्ट ने 80 करोड़ का निवेश कर गोरखपुर में सैनेटरी नैपकिन की फैक्टी लगाई है। इस फैक्ट्री में 500 लोगों को रोजगार मिला है।

जिन टेक्सटाइल मिलों में अगले तीन महीनों में उत्पादन शुरू होने को है, उनमें जिंदल हैंडटेक्स प्राइवेट लिमिटेड ने 55 करोड़ रुपए का निवेश गाजियाबाद में, वीवासिटी होम प्राइवेट लिमिटेड ने 4.24 करोड़ रुपए का निवेश नोएडा में, यूवी गारमेंट प्राइवेट लिमिटेड ने 10 करोड़ रुपए का निवेश गाजियाबाद में, डीएस एक्सपोर्ट ने 2.5 करोड़ रुपए का निवेश गाजियाबाद में, राकेश इंटरनेशनल ट्रेडिंग कंपनी ने पांच करोड़ रुपए का निवेश गाजियाबाद में और शिवापाली प्लास्ट प्राइवेट लिमिटेड ने 20 करोड़ रुपए का निवेश कानपुर के जैनपुर क्षेत्र में किया है। इन छह मिलों के निर्माण का कार्य पूरा हो गया है और इनमें मशीन लगाई जा रही हैं। इस साल के अंत तक इन टेक्सटाइल मिलों में उत्पादन शुरू जाएगा।

Latest news
Related news