अधिक से अधिक बच्चों का विद्यालयों में नामाकंन करायें: शुचिता चतुर्वेदी

इंडिया न्यूज़, हरदोई।

कलेक्ट्रेट सभागार में उप्र राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग की सदस्य डा0 शुचिता चतुर्वेदी ने स्वास्थ्य,शिक्षा, मनरेगा,बाल विकास, अल्पसंख्यक,बाल कल्याण, किशोर न्याय बोर्ड,राजकीय सम्प्रेक्षण गृह,श्रम विभाग तथा चाइड लाइन आदि विभागों की समीक्षा की। बैठक में सदस्य शुचिता चतुर्वेदी ने प्रोबेशन विभाग की समीक्षा करते हुए जिला प्रोबेशन अधिकारी को निर्देश दिये कि विगत वर्षो में कोरोना काल में अनाथ हुए सभी बच्चों को मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना के अन्तर्गत लाभान्वित करायें तथा नवीन आवेदन पत्रों का सत्यापन कराकर शेष बच्चों को भी उक्त योजना के अन्तर्गत लाभ प्रदान करायें।

मुख्यमंत्री सुमंगला योजना के तहत बालिकाओं को समय पर लाभ दिलाये तथा रानी लक्ष्मीबाई महिला सम्मान योजना के अन्तर्गत पीड़ित महिलाओं को भी समय पर निर्धारित अनुदान उपलब्ध करायें। बाल सम्प्रेक्षण गृह के बच्चों के सम्बन्ध में सदस्य शुचिता चतुर्वेदी ने सीडब्लूडी अध्यक्ष संतोष कुमार सिंह को निर्देश दिये कि नियमित बाल सम्प्रेक्षण गृह का निरीक्षण करें और बाल बंदियों का स्वास्थ्य परीक्षण करायें तथा शिक्षा के प्रति बच्चों को प्रोत्साहित करें।

ये भी पढ़ें : प्रो. निर्मला एस मौर्य ने कहा देश की धरोहर को बचाने में योगदान जरूरी

बैठक में सदस्य शुचिता चतुर्वेदी ने सहायक श्रमायुक्त अचला पाण्डेय को निर्देश दिये कि दुकानों एवं कारखानों में औचक निरीक्षण करें और बाल श्रम कराने वाले लोगों के विरूद्व कड़ी कार्यवाही करते हुए जुर्माना लगायें तथा बाल श्रमिक बच्चों का विद्यालयों में पंजीकरण करायें तथा पंजीकरण श्रमिकों को प्रदेश सरकार की समस्त योजनाओं का लाभ प्राप्त करायें।

ये भी पढ़ें : हर माह की 21 तारीख को स्वास्थ्य केन्द्रों पर मनाया जाएगा खुशहाल परिवार दिवस

ये भी पढ़ें : नाबालिक युवती के साथ जबरन दुष्कर्म

ये भी पढ़ें : हर वर्ग और दूर-दराज के क्षेत्रों तक पहुंचे स्वास्थ्य सेवाओं का लाभ : हरेंद्र सिंह

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे !
 

Connect With Us : Twitter | Facebook Youtube

 

Latest news
Related news