खुलासा : कबाड़ियों की डिमांड पर कार चुराता था गैंग, दिल्ली-एनसीआर से चुराईं 500 से ज्यादा कारें

इंडिया न्यूज, गाजियाबाद:
कार चोरों का गैंग इतना शातिर था कि वह कबाड़ी वालों की डिमांड पर करों को चोरी करता था। हालात यह थे इस गैंग ने दिल्ली-एनसीआर से ही 500 से ज्यादा कार चोरी की थी। कार चोरी करने वाले अंतरराज्यीय वाहन चोर गैंग का खुलासा करते हुए गाजियाबाद की मसूरी पुलिस व एसओजी ने दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है। आरोपियों की निशानदेही पर 10 कार, 30 गाड़ियों के ईसीएम, तीन कटे इंजन बरामद किए गए हैं। एसएसपी पवन कुमार ने बताया कि गैंग उसी मॉडल की कार चुराता था, जिसकी कबाड़ियों द्वारा डिमांड की जाती थी। इसके बाद एक्सीडेंटल व पुरानी गाड़ियों के दस्तावेजों का इस्तेमाल करते हुए चोरी की गई गाड़ियों के नंबर बदलकर उन्हें 4 से 5 लाख रुपये में बेच दिया जाता था। सरगना समेत सात आरोपी फरार हैं, जिनकी तलाश में दबिश दी जा रही है। गैंग पकड़ने वाली टीम को एसएसपी ने 25 हजार का इनाम देने की घोषणा की है। पुलिस ने थाना नरसैना, बुलंदशहर के गांव गेसूपुर निवासी प्रदीप कुमार उर्फ पिंटू व थाना नंदनगरी, दिल्ली के सुंदर नगरी निवासी अजीम को गिरफ्तार किया है। प्रदीप वर्तमान में सिहानी गेट के नेहरू नगर में रहता है।
इनके अलावा ट्रोनिका सिटी के मीरपुर निवासी वसीम, सुंदर नगरी दिल्ली निवासी याकूब व फेमू, सोतीगंज मेरठ निवासी इमरान, लोनी निवासी नूर मोहम्मद, थाना खरखौदा सोनीपत के गांव रोहणा निवासी संजय दहिया और अशोक विहार लोनी निवासी जाहिद अभी फरार हैं।
गाड़ी में अपना ईसीएम कनेक्ट कर गाड़ी स्टार्ट करते थे आरोपी
एसपी ग्रामीण के मुताबिक आरोपी या तो अनपढ़ हैं या कम पढ़े लिखे हैं, लेकिन इन्होंने गाड़ियों से ईसीएम कनेक्ट करने की ट्रेनिंग ले ली है। गाड़ी की आन डिमांड चोरी करते समय वह उस कंपनी और मॉडल का ईसीएम अपने साथ ले जाते थे।
गाड़ी में अपना ईसीएम कनेक्ट कर गाड़ी स्टार्ट करते थे आरोपी
एसपी ग्रामीण के मुताबिक आरोपी या तो अनपढ़ हैं या कम पढ़े लिखे हैं, लेकिन इन्होंने गाड़ियों से ईसीएम कनेक्ट करने की ट्रेनिंग ले ली है। गाड़ी की आॅन डिमांड चोरी करते समय वह उस कंपनी और मॉडल का ईसीएम अपने साथ ले जाते थे।

Latest news
Related news