डीजीजीआई का छापा, बरेली की नमकीन फैक्ट्री से दो करोड़ वसूले

इंडिया न्यूज, मेरठ:
गुड्स एंड सर्विस टैक्स इंटेलिजेंस महानिदेशालय (डीजीजीआई) की मेरठ आंचलिक इकाई ने बरेली की एक प्रतिष्ठित नमकीन निर्माता कंपनी की फैक्ट्री पर छापेमारी की। अधिकारियों ने पाया कि कंपनी नमकीन को गलत वर्ग में वर्गीकृत करके कम जीएसटी का भुगतान कर रही है। इसके जरिए कंपनी ने पांच करोड़ से अधिक के कर का अपवंचन किया। इसके बाद, कंपनी निदेशक ने मौके पर ही दो करोड़ रुपये का जीएसटी भुगतान चालान के माध्यम से कर दिया।
डीजीजीआई की मेरठ आंचलिक इकाई को बरेली स्थित एके नमकीन प्राइवेट लिमिटेड द्वारा टैक्स चोरी की सूचना मिली थी। नमकीन पर जीएसटी की दर पांच और 12 फीसदी है जो कि क्रमश: नॉनब्रांडेड और ब्रांडेड नमकीन की दरें हैं। यह कंपनी अपने उत्पाद को पांच फीसदी की जीएसटी दर पर निकाल रही थी, जबकि इस पर 12 फीसदी टैक्स देय का नियम है। इस तरह कंपनी ने पांच करोड़ से अधिक के कर का अपवंचन किया। छापेमारी के दौरान अधिकारियों ने कंपनी निदेशक के बयान दर्ज किए। कंपनी निदेशक ने अपनी गलती स्वीकार करते हुए मौके पर ही दो करोड़ रुपये का जीएसटी भुगतान चालान के माध्यम से कर दिया।

Latest news
Related news