जुमे की हिंसा के विरोध में उत्तर प्रदेश की सड़कों पर उतरा बजरंग दल, कई जिलों किया हनुमान चालीसा का पाठ

इंडिया न्यूज, लखनऊ: 
पिछले शुक्रवार को जुमे की नमाज के बाद उत्तर प्रदेश के कई जिलों में भड़की हिंसा के विरोध में बजरंग दल के सैकडों कार्यकर्ता गुरुवार को सड़कों पर उतर आए। बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने कानपुर, वाराणसी, मेरठ समेत कई जिलों में प्रर्शन किया। बजरंग दल ने कानपुर के गुरुदेव चौराहा, खलासी लाइन, रामादेवी और किदवई नगर चौराहे पर जमकर विरोध जताया। विरोध प्रदर्शन के दौरान कार्यकर्ताओं ने ‘हिंदुओं का बल बजरंग दल’ ‘देश का बल बजरंग दल’, ‘राष्ट्र के सम्मान में बजरंग दल मैदान में’ ‘पत्थरबाजों होश में आओ’ और ‘जिस घर से अफजल निकलेगा, उस घर में घुसकर मारेंगे’ आदि स्लोगन लेकर जमीन पर बैठकर विरोध जताया।

विश्व हिंदू परिषद और बजरंग दल, कानपुर दक्षिण ने किदवई नगर थाने के सामने सड़क पर हनुमान चालीसा का पाठ किया। इसके बाद राष्ट्रपति को संबोधित ज्ञापन एसीपी बाबू पुरवा आलोक सिंह को सौंपा गया। इस पुरे घटनाक्रम के दौरान मौके पर पुलिस फोर्स मौजूद रही।

सड़कों पर की नारेबाजी

बीती तीन जून को कानुपर में हुई हिंसा और उसके बाद ही अगले शुक्रवार 10 जून को यूपी समेत देश के कई राज्यों में हुई हिंसा के विरोध में बजरंग दल ने सड़क पर उतर कर प्रदर्शन किया। बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने गुरुदेव चौराहा, खलासी लाइन, रामादेवी और किदवई नगर चौराहे पर नारेबाजी की।

वाराणसी के शास्त्री घाट पर किया हनुमान चालीसा का पाठ

वाराणसी में वरुणा नदी के किनारे शास्त्री घाट पर बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने पहले हनुमान चालीसा का पाठ किया और इसके बाद प्रदर्शन किया। कार्यकर्ताओं ने राष्ट्रपति को संबोधित ज्ञापन जिला प्रशासन के अफसरों को सौंपते हुए कहा कि “देश में बढ़ रही इस्लामिक कट्‌टरता पर रोक लगाई जाए।” काशी के बजरंग दल के सह संयोजक कृपाशंकर तिवारी ने कहा है कि “पथराव और उपद्रव पर स्थायी रूप से रोक लगे। जो उपद्रवी हैं उन पर सख्ती के साथ प्रभावी कार्रवाई हो। देश में शांति का माहौल हो। माहौल खराब करने वाले कतई बख्शे न जाएं।”

मेरठ में कमिश्नर कार्यालय के बाहर पढ़ा हनुमान चालीसा

मेरठ में बजरंग दल और विश्व हिंदू परिषद के कार्यकर्ताओं ने विरोध जताया। वाराणसी की तरह यहां भी कार्यकर्ताओं ने पहले कमिश्नर कार्यालय के बाहर चौधरी चरण सिंह पार्क में हनुमान चालीसा का पाठ किया। इसके बाद हिंदुत्व की जय का नारा लगाते हुए डीएम कार्यालय जाकर प्रदर्शन किया। प्रदर्शन में शामिल सभी कार्यकर्ताओं ने एक ही नारा लगाया- ‘जिस घर में अफजल निकलेगा, वहां घुसकर मारेंगे।’

मुरादाबाद और प्रयागराज में नूपुर शर्मा के समर्थन में उतरे कार्यकर्ता

बजरंग दल और विश्व हिंदू परिषद के कार्यकर्ताओं ने मुरादाबाद और प्रयागराज में भाजपा की निष्कासित प्रवक्ता नूपुर शर्मा के समर्थन में नजर आए। सभी कार्यकर्ताओं ने नारा लगाते हुए कहा कि ‘नूपुर तुम संघर्ष करो, हम तुम्हारे साथ हैं’। साथ ही उन्होंने नूपुर शर्मा का सिर कलम करने की धमकी देने वालों पर कार्रवाई की मांग की।

यहां भी हुए प्रदर्शन

गुरुवार को बजरंग दल और विश्व हिंदू परिषद के कार्यकर्ताओं ने आगरा, सहारनपुर, चित्रकूट, बागपत और जालौन में भी हंगामा किया। सहारनपुर में कलेक्ट्रेट परिसर में कार्यकर्ताओं ने हनुमान चालीसा का पाठ किया और ज्ञापन सिटी मजिस्ट्रेट को सौंपा। यह प्रदर्शन विश्व हिंदू परिषद और बजरंग दल ने साथ मिलकर किया।

मथुरा में PFI की फंडिंग रोकने की मांग

मथुरा में बजरंग दल, विश्व हिंदू परिषद और दुर्गा वाहिनी के कार्यकर्ता कलेक्ट्रेट पहुंचे। यहां प्रदर्शन करते हुए राष्ट्रपति के नाम एसडीएम को ज्ञापन सौंपा गया। विश्व हिंदू परिषद के महानगर अध्यक्ष अमित जैन ने बताया कि “सौ से ज्यादा शहरों में राम नवमी के दिन पथराव किया गया। इसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए। देश में पीएफआई जैसे संगठनों को प्रतिबंधित कर इनकी फंडिंग रोकी जाए।”

ये भी पढ़ें : अग्निपथ भर्ती योजना का दिल्ली और हरियाणा में भी विरोध, बिहार में ट्रेन को आग लगाई
हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे !
Connect With Us : Twitter | Facebook Youtube
Latest news
Related news