किसान महापंचायत में ऐलान, 27 को रहेगा भारत बंद

केंद्र सरकार पर बरसे राकेश टिकैत, कहा देश के किसान के लिए आंदोलन जारी रहेगा
इंडिया न्यूज, उत्तर प्रदेश:
देश के प्रमुख किसान संगठनों के आह्वान पर उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर जिले के जीआईसी मैदान में किसान महापंचायत का आयोजन किया गया। महापंचायत में किसान नेताओं ने केंद्र सरकार पर जमकर निशाना साधा। किसान नेताओं ने कहा कि कृषि कानून किसी भी हालत में वापस करवाकर ही रहेंगे। हजारों किसानों की उपस्थिति में फैसला लिया गया कि संयुक्त किसान मोर्चा 27 सितंबर को भारत बंद करेगा। किसानों को संबोधित करते हुए राकेश टिकैत ने कहा कि हम शहीद हो जाएंगे लेकिन मोर्चा डटा रहेगा। हमारा आंदोलन खत्म नहीं होगा। उन्होंने कहा कि किसानों को गन्ने का भाव 450 रुपए प्रति क्विंटल चाहिए। कृषि बिलों की वापसी तक किसान राजधानी के बॉर्डर पर डटे रहेंगे व घर वापस नहीं जाएंगे। महापंचायत के मंच से सरकार विरोधी नारे लगाए गए हैं। किसान नेताओं ने कहा कि आगामी यूपी और उत्तराखंड विधानसभा चुनाव में बीजेपी को उखाड़ फेंकना है।

मैं किसान हूं, किसान ही रहूंगा : टिकैत

राकेश टिकैत ने कहा कि हम वो नहीं हैं, जो झोला उठाकर चल देंगे। मैं किसान हूं और किसान ही रहूंगा। आखिरी दम तक किसानों के साथ रहूंगा। किसानों के हक की लड़ाई के लिए हम हमेशा किसानों के साथ रहे हैं, और मरते दम तक किसानों की लड़ाई लड़ेंगे। बता दें, इससे पहले आंदोलन में आक्रोशित किसानों ने शहर में लगे सीएम के बड़े-बड़े होर्डिंग को फाड़कर फेंका। इसी बीच करीब 2 घंटे इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई। महापंचायत में राकेश टिकैत ने कहा कि अल्लाह हू अकबर और हर-हर महादेव के नारे हमेशा लगते रहे हैं और लगते रहेंगे। हम यहां दंगा नहीं होने देंगे। यह देश हमारा है, यह प्रदेश हमारा है, यह जिला हमारा है। लाल किले पर हमारे लोग नहीं गए। देश में कैमरा और कलम पर बंदूक का पहरा है। आगे भी आंदोलन जारी रहेगा।

सरकार ने किसानों से किया धोखा: योगेंद्र यादव

योगेंद्र यादव ने केंद्र और यूपी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि गन्ना मूल्य नहीं बढ़ा, फसल बीमा के नाम पर फरेब किया। दाना दाना खरीदने का वादे पर खरीद नहीं हुई, कर्जमाफी के नाम ढोंग किया और लोगों को धर्म के नाम पर बांट दिया। उन्होंने कहा कि सौ सुनार की अब किसानों ने एक लुहार की चोट मारी है।

Latest news
Related news