उपराष्ट्रपति चुनाव पद के लिए वोटिंग जारी, कई दिग्गजों ने किया मतदान

  • आज ही घोषित होंगे नतीजे, 11 अगस्त को शपथ ग्रहण

इंडिया न्यूज, नई दिल्ली:
उपराष्ट्रपति पद के लिए संसद भवन में मतदान जारी है और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित कई दिग्गज अब तक वोट डाल चुके हैं। सुबह दस बजे मतदान शुरू हुआ जो शाम पांच बजे तक चलेगा। आज ही वोटों की गिनती होगी और देश को नया उपराष्ट्रपति आज ही मिल जाएगा। एनडीए की ओर से जगदीप धनखड़ चुनाव मैदान में हैं और विपक्ष ने कांग्रेस के नेतृत्व में मार्गरेट अल्वा को मैदान में उतारा है। मौजूदा उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू का कार्यकाल 11 अगस्त को खत्म होगा और उसी दिन नया उपराष्ट्रपति शपथ लेगा।

इन सांसदों व केंद्रीय मंत्रियों ने भी की वोटिंग

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी, धर्मेंद्र प्रधान, केंद्रीय विदेश राज्य मंत्री मीनाक्षी लेखी, केंद्रीय आवास और शहरी मामलों के मंत्री हरदीप सिंह पुरी, बीजेपी सांसद राज्यवर्धन सिंह राठौर,  बीजेपी सांसद रवि किशन व हेमा मालिनी ने भी उपराष्ट्रपति चुनाव के लिए संसद में वोट डाला। नारायण राणे और सबार्नंद सोनोवाल ने भी मतदान किया। केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह व पीयूष गोयल और बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा एक साथ वोट डालने के लिए संसद भवन पहुंचे।

केंद्रीय मंत्री अर्जुन राम मेघवाल, गजेंद्र सिंह शेखावत् व वी मुरलीधरन ने भी मतदान किया। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, राजीव चंद्रशेखर और केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने भी वोट डाला। बीजेपी सांसद व केंद्रीय मंत्री जनरल वीके सिंह ने भी मतदान किया। बीजेपी सांसद साक्षी महाराज,  केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह और अश्विनी वैष्णव ने भी उपराष्ट्रपति चुनाव के लिए वोट डाला।

विपक्ष के इन नेताओं ने भी डाला वोट, मार्गरेट अल्वा ने अर्जुन मेघवाल की बात

कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष और सांसद सोनिया गांधी के अलावा, पार्टी नेता व सांसद मल्लिकार्जुन खड़गे, मनीष तिवारी और कांग्रेस सांसद अधीर रंजन चौधरी ने भी मतदान किया। मार्गरेट अल्वा ने संसद में केंद्रीय मंत्री अर्जुन राम मेघवाल से बातचीत भी की। आम आदमी पार्टी के सांसद संजय सिंह, हरभजन सिंह, डीएमके सांसद कनिमोझी ने भी उपराष्ट्रपति चुनाव के लिए वोट डाला। पूर्व प्रधानमंत्री और कांग्रेस सांसद डॉ मनमोहन सिंह ने भी वोट डाला। डीएमके के सांसद दयानिधि मारन, तिरुचि शिवा व कार्ति चिदंबरम ने भी मतदान किया।

टीएमसी ने मतदान से दूर रहने के लिए लिखा पत्र

तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के सांसद और लोकसभा में संसदीय दल के नेता सुदीप बंद्योपाध्याय ने टीएमसी के सांसद शिशिर अधिकारी को पत्र लिखकर उन्हें पार्टी द्वारा तय फैसले व घोषणा के अनुसार उपराष्ट्रपति के चुनाव में मतदान से दूर रहने की सूचना दी।

जानिए कैसे होता है उपराष्ट्रपति का चुनाव

उपराष्ट्रपति चुनाव में जितने सदस्यों के वोट पड़ते हैं, उसकी संख्या में 2 से भाग देते हैं और फिर उसमें एक जोड़ दिया जाता है। मान लीजिए की चुनाव में कुल 787 सदस्यों ने वोट डाल तो इसे 2 से भाग देंगे 393.50 आता है। इसमें 0.50 को हटा देंगे क्योकि दशमलव की बाद की संख्या नहीं गिनी जाती है। इसलिए यह संख्या 393 हुई। अब इसमें 1 जोड़ने पर संख्या 394 होता है। चुनाव जीतने के लिए 394 वोट मिलना जरूरी है।

योग्यता और जानिए कौन करता है वोटिंग

उपराष्ट्रपति का चुनाव लड़ने के लिए भारत का नागरिक होना अनिवार्य है। उम्र 35 से अधिक होनी चाहिए। प्रत्याशी को चुनाव लड़ने के लिए 15,000 रुपए जमानत राशि के तौर पर जमा कराने होते हैं। हारने या 1/6 वोट न मिलने पर यह राशि चुनाव आयोग में डिपॉजिट हो जाती है। उपराष्ट्रपति राज्यसभा के सभापति भी होते हैं और उनके चुनाव में केवल लोकसभा और राज्यसभा के सांसद मतदान करते हैं। मनोनीत सदस्य भी हिस्सा इस चुनाव में लेते हैं। यदि राष्ट्रपति का पद किसी कारण खाली होता है तो उनकी जिम्मेदारी उपराष्ट्रपति संभालते हैं।

बीजेपी के पास सांसदों की पर्याप्त संख्या

मौजूदा समय में बीजेपी के पास लोकसभा सांसदों की सख्या 303 और राज्यसभा में 93 सांसद हैं। उपराष्ट्रपति चुनाव में वोटों की संख्या पर नजर डालें तो बीजेपी के पास आंकड़ा 395 का है, जबिक जीत के लिए केवल 394 सदस्यों की जरूरत है।

ये भी पढ़े :  प्रधानमंत्री के निर्देश पर पीजीआई चंडीगढ़ में पंजाब के मरीजों का इलाज फिर शुरू

ये भी पढ़े :  बिहार में तीन लोगों की संदिग्ध मौत, जहरीली शराब पीने से जान जाने की आशंका

ये भी पढ़े : उत्तर प्रदेश व उत्तराखंड सहित देश के कई राज्यों में भारी बारिश का अनुमान

ये भी पढ़े : देश को आज मिलेगा नया उपराष्ट्रपति, सुबह 10 से शाम 5 बजे तक होगी वोटिंग

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे !

Connect With Us : Twitter | Facebook Youtube

 

Latest news
Related news