असम: रैगिंग से बचने के लिए छात्र ने की खुदकुशी की कोशिश, जानें क्या है पूरा मामला

असम की डिब्रूगढ़ यूनिवर्सिटी में रैगिंग से बचने के लिए खुदकुशी की कोशिश का मामला सामने आया है. प्राप्त जानकारी के मुताबिक, यूनिवर्सिटी के पीएनजीबी हॉस्टल में रहने वाले एक छात्र ने रैगिंग से तंग आकर हॉस्टल की दूसरी मंजिल से छलांग लगा दी. छात्र को कई चोटें आई हैं. उसे अस्पताल ले जाया गया है. इस मामले में एक छात्र को गिरफ्तार किया गया है, जबकि 4 सीनियर छात्रों को हिरासत में लिया गया है.

रैगिंग की यह घटना रविवार को हुई. घायल छात्र की पहचान आनंद शर्मा के रूप में की गई है. छात्र की हालत नाजुक बताई गई है. उसका अस्पताल के आईसीयू में इलाज चल रहा है. पीड़ित छात्र के परिजनों ने इस मामले में पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है. अधिकारियों ने कहा कि इस घटना की जांच शुरू कर दी गई है.

पीड़िता की मां ने लगाएं गंभीर आरोप

खबरों के मुताबिक पीड़िता की मां ने पुलिस को दी अपनी शिकायत में कुछ बेहद गंभीर आरोप लगाए हैं. दोषियों के खिलाफ डिब्रूगढ़ पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कराने वाली सरिता शर्मा ने आरोप लगाया कि यह घटना उनके बेटे की रैगिंग और मानसिक और शारीरिक रूप से प्रताड़ित करने, उसे मारने का प्रयास करने, उसके पैसे लूटने और उसका मोबाइल फोन छीनने का नतीजा था. उन्होंने अपने बेटे के हाथ में जबरन शराब और गांजा देकर आपत्तिजनक तस्वीरें लेने की घटना के लिए जिम्मेदार लोगों पर उनके भविष्य के बचाव के लिए आधार तैयार करने की साजिश का भी आरोप लगाया.

घायल छात्र की मां ने कही ये बात 

घायल छात्र की मां सरिता शर्मा ने कहा, “मेरा बेटा पिछले चार महीनों से कह रहा है कि उसे सीनियर छात्रों द्वारा प्रताड़ित किया गया है. कल रात, उसने मुझे फोन किया कि मैं हॉस्टल जा रहा हूं. बेटे ने बताया था कि सीनियर्स सुबह तक प्रताड़ित करते हैं. मेरे बेटे की पैर की हड्डी टूट गई है. उसके सीने पर चोटें आई है.” बता दें डिब्रूगढ़ के एसपी का कहना है कि इस मामले में एफआईआर दर्ज कर मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है. जबकि उसका साथ देने वाले 4 अन्य को हिरासत में लिया गया है.

 

 

Latest news
Related news