5 दिन मध्य भारत व पश्चिमी तट पर जारी रहेगी मानसूनी बारिश, इन राज्यों में अलर्ट जारी…

इंडिया न्यूज, New Delhi News। Weather Of India : देश के लगभग अधिकतर हिस्सों में पिछले सप्ताहांत बारिश होती रही। कुछ इलाकों में भारी तो कहीं-कहीं हल्की बारिश हुई। भारतीय मौसम विभाग के अनुसार अभी राहत के आसार नहीं हैं।

कई राज्यों में भारी बारिश के आसार

ज्यादातर राज्यों में हल्की से भारी बारिश होने की संभावना है। देश की राजधानी दिल्ली के अलावा हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, यूपी, राजस्थान और मध्य प्रदेश, के कई इलाकों में भारी बारिश की आशंका है।

इन जगहों पर किया गया है अलर्ट जारी

वहीं, 12 और 13 जुलाई को कर्नाटक और तेलंगाना में भारी से बहुत भारी बारिश होने की संभावना है। तेलंगाना के लिए रेड अलर्ट जारी किया गया है। पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, छत्तीसगढ़, गुजरात, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, हरियाणा के कई इलाकों में भारी बारिश हुई है।

मौसम विभाग ने अगले 5 दिन तक मध्य भारत और पश्चिमी तट पर सक्रिय मानसून के जारी रहने का अनुमान जताया है। इसके चलते पंजाब, हरियाणा और उत्तरी उत्तर प्रदेश में भारी बारिश की संभावना है। उत्तर और पश्चिम भारत में मानसून ने उमस और गर्मी से राहत दिलाई है, लेकिन कई इलाकों में बाढ़ से जन-जीवन अस्त-व्यस्त हो गया है।

महाराष्ट्र के गढ़चिरौली जिले में 128 गांवों से संपर्क टूटा

महाराष्ट्र के गढ़चिरौली जिले में भारी बारिश के कारण 128 गांवों से संपर्क टूट गया है। वहीं, मराठवाड़ा क्षेत्र के गढ़चिरौली, हिंगोली और नांदेड़ जिले भी भारी बारिश से प्रभावित हुए हैं।

शिमला में 3 मंजिला इमारत गिरी

वहीं हिमाचल की राजधानी शिमला में भारी बारिश के चलते 3 मंजिला इमारत भरभराकर गिर गई। राज्य के कुल्लू और चंबा जिलों में शनिवार शाम को अलग-अलग स्थानों पर दो बार अचानक बाढ़ आने की खबर आई।

कुल्लू की गडसा घाटी में बाढ़

कुल्लू जिले की गडसा घाटी के जीवा नाला में अचानक बाढ़ आने से नदी के किनारे लगे पेड़ बह गए। इसके अलावा 50 भेड़ और बकरियों के लापता होने की जानकारी मिली है।

यूपी में बिजली गिरने से 5, एमपी में 36 दिन में 90 लोगों की मौत

यूपी में शनिवार को बिजली गिरने से 5 लोगों की मौत हो गई। वहीं मध्यप्रदेश में भी बीते कुछ दिन से बिजली भी कहर बनकर गिरी है। इस मानसून में प्रदेश में 36 दिन में कई जगहों पर बिजली गिरने से 90 लोग मौत के मुंह में चले गए। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल के 40 किमी के दायरे में शनिवार रात करीब एक घंटे में 6928 जगह बिजली गिरी।

अमरनाथ हादसे में 16 लोगों की मौत, 45 लापता

वहीं अमरनाथ गुफा के पास शुक्रवार शाम को बादल फटने के बाद से खबर लिखे जाने तक 16 लोगों की मौत की पुष्टि हुई है। सेना ने शनिवार सुबह फिर रेस्क्यू आपरेशन शुरू कर 35 घायलों को एयरलिफ्ट किया है। जानकारी अनुसार 45 लोग अभी लापता हैं और माउंटेन रेस्क्यू टीम उनकी तलाश में जुटी है।

सेना ने शनिवार रातभर चलाया रेस्क्यू आपरेशन

सेना का रेस्क्यू आपरेशन शनिवार को पूरी रात चला। इस दौरान कोई बॉडी रिकवर नहीं की गई। सीआरपीएफ के डीजी कुलदीप सिंह ने कहा कि अभी हम यह देखने के लिए सभी एहतियाती कदम उठा रहे हैं कि क्या सभी गुमशुदा लोग मिलते हैं या नहीं। यात्रा एक या दो दिन में फिर से शुरू हो सकती है।

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे !

ये भी पढ़े : लापता होने के 26 साल बाद आश्रम में मिले ओडिशा के स्वप्नेश्वर, जानें कैसे पहुंचे घर?

ये भी पढ़े : नूपुर शर्मा की डीपी हटा दे, नहीं तो अगली गर्दन तेरी काटूंगा…

ये भी पढ़े : आप ने हाई कोर्ट में उठाया पंजाब में लॉ अफसरों की नियुक्ति में आरक्षण का मामला, विपक्ष ने कसा ये तंज…

ये भी पढ़े : जोहान्सबर्ग के बार में हमलावरों ने बरसाई ताबड़तोड़ गोलियां, 14 की मौत, 10 से अधिक घायल

ये भी पढ़े : मां काली विवाद पर पहली बार बोले पीएम मोदी, कहा-सब मां की चेतना से व्याप्त

Connect With Us : Twitter | Facebook Youtube

Latest news
Related news