मनीष सिसोदिया का दावा! बीजेपी ने मेरे खिलाफ सभी सीबीआई, ईडी मामलों को बंद करने की रखी पेशकश

इंडिया न्यूज़, नई दिल्ली: दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने सोमवार को आरोप लगाया कि आम आदमी पार्टी (आप) को विभाजित करने के लिए भारतीय जनता पार्टी ने उन्हें एक प्रस्ताव भेजा है, जिसमें उनका दावा है कि उन्हें भाजपा में शामिल होने के लिए कहा गया है। उन्होंने जोर देकर कहा कि उनके खिलाफ सभी आरोप झूठे थे और वह “षड्यंत्रकारियों और भ्रष्ट लोगों” के सामने कभी नहीं झुकेंगे।

ट्वीट कर दी जानकारी

सिसोदिया ने ट्वीट कर कहा कि उनके खिलाफ सीबीआई और ईडी के मामलों को बंद करने के बदले में उन्हें आप को विभाजित करके भाजपा में शामिल होने का प्रस्ताव मिला है। भाजपा को मेरा जवाब है – मैं महाराणा प्रताप का वंशज हूं, एक राजपूत। मैं अपना सिर काट दूंगा लेकिन भ्रष्टाचारियों और साजिश करने वालों के आगे नहीं झुकूंगा। मेरे खिलाफ सभी मामले झूठे हैं। पिछले हफ्ते सीबीआई ने सिसोदिया के सरकारी आवास पर छापेमारी की और दिल्ली की आबकारी नीति के क्रियान्वयन में कथित भ्रष्टाचार के सिलसिले में कई जगहों पर छापेमारी की।

राष्ट्र इस तरह कैसे करेगा प्रगति: केजरीवाल

दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल ने भी ट्वीट कर कहा कि रुपया गिर रहा है, लोग महंगाई से परेशान हैं, बेरोजगारी चरम पर है और ये लोग ‘सीबीआई-ईडी’ खेल रहे हैं, और लोगों द्वारा चुनी गई सरकारों को गिराने और सारा दिन गाली गलौज करने में व्यस्त हैं। लोग अपने मुद्दों के बारे में किससे बात करेंगे और उन्हें किसके पास जाना चाहिए? राष्ट्र इस तरह कैसे प्रगति करेगा?

गुजरात के दो दिवसीय दौरे पर हुए रवाना

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल आज से गुजरात के दो दिवसीय दौरे पर रवाना हो गए हैं। केजरीवाल के साथ दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया भी होंगे, जो आप सरकार की पिछली आबकारी नीति के सिकेलसिले में सीबीआई जांच का सामना कर रहे हैं। दोनों आज अहमदाबाद पहुंचेंगे और हिम्मतनगर में टाउन हॉल बैठक को संबोधित करेंगे। वे मंगलवार को भावनगर में टाउन हॉल बैठक में भी शामिल होंगे।

शनिवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में बोले सिसोदिया

दिल्ली एक्साइज स्कीम मामले में सीबीआई के छापे के बाद डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने शनिवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस की उन्होंने कहा कि दिल्ली की एक्साइज स्कीम सबसे अच्छी स्कीम है और देश में यह एक उदाहरण बन सकती है। कल मेरे घर सीबीआई की रेड पड़ी थी। सारे ऑफिसर अच्छे थे। सबका व्यवहार काफी अच्छा था। उनसे मुझे कोई परेशानी नहीं हुई।

आबकारी विभाग के 2 पूर्व अफसरों का नाम आया सामने

आबकारी विभाग के दो पूर्व अधिकारी और एक मौजूदा अधिकारी भी इस नीति में शामिल थे। सीबीआई को सबूत मिले हैं कि अमित अरोड़ा, दिनेश अरोड़ा और अर्जुन पांडेय ने मनीष सिसोदिया के साथ मिलकर लाइसेंस होल्डर्स से मिले और फिर अवैध फंड को डायवर्ट किया। ताकि मामला खुले भी तो अधिकारियों को ही दोषी ठहराया जाए।

Latest news
Related news