कुरुक्षेत्र में धमाके की साजिश में हरविंदर सिंह रिंदा का नाम, कल मिले थे विस्फोटक

इंडिया न्यूज, चंडीगढ़:
हरियाणा के कुरुक्षेत्र में शाहाबाद के पास कल अम्बाला दिल्ली नेशनल हाईवे पर बरामद किए गए असलहे के तार पाकिस्तान से जुड़ते नजर आ रहे हैं। प्रारंभिक जांच में सामने आया है कि हरविंदर सिंह रिंदा ने यह साजिश रची थी। हरियाणा विशेष कार्य बल (एसटीएफ) मामले की जांच कर रहा है। बता दें कि ड्रोन के जरिये पाकिस्तान से आईईडी और आरडीएक्स भेजा गया था और धर्म नगरी व अन्य जगह  ब्लास्ट करने की साजिश रची गई थी। एसटीएफ ने समय रहते साजिश को नाकाम कर दिया है।

शुरुआती जांच में हरविंदर सिंह रिंदा का नाम : एसटीएफ प्रमुख

प्रदेश एसटीएफ प्रमुख और आईजी सतीश बालन ने बताया कि मामले में पूछताछ जारी है। प्रारंभिक जांच में साजिश के पाकिस्तान से तार जुड़े होने के संकेत मिले हैं। उन्होंने भी इस बात की पुष्टि की है कि शुरुआती जांच में हरविंदर सिंह रिंदा का नाम सारे षडयंत्र में आया सामने आया है। हरविंदर सिंह रिंदा को पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई भी सपोर्ट करती है।

नामी गैंगस्टरों के संपर्क में रहता है रिंदा

बता दें कि हरविंदर सिंह रिंदा भारत के नामी गैंगस्टरों के संपर्क में रहता है। आईएसआई इसका गलत फायदा उठा रही है। यह भी जानकारी है कि जयपाल भुल्लर को पंजाब पुलिस की टीम ने पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में मुठभेड़ में मार गिराया था और उसके मोबाइल में हरविंदर सिंह रिंदा का नंबर मिला था।

साजिश में 3-4 आतंकी शामिल, तरनतारन का शमशेर गिरफ्तार

मामले में अमृतसर के तरनतारन निवासी शमशेर सिंह को एसटीएफ ने गिरफ्तार किया है। शमशेर को शाहाबाद में विस्फोटक सामग्री रखने की जिम्मेदारी सौंपी गई थी। धमाका करने का काम दूसरे लोगों को सौंपा गया था। शमशेर सिंह के साथ तीन से चार लोग शामिल थे, जिनके बारे में एसटीएफ पूछताछ कर रही है। विस्फोटक सामग्री रखने के लिए इन लोगों को पैसे दिए जाते हैं। साथ ही इन्हें नशीला पदार्थ भी मिलता है।

पंजाब व जम्मू-कश्मीर से दो और लोगों की जल्द हो सकती है गिरफ्तारी

शमशेर सिंह के बारे में पंजाब पुलिस से संपर्क किया जा रहा है। पता लगाया जा रहा है कि उसके खिलाफ पंजाब में भी मामले दर्ज हैं या नहीं। उसके मोबाइल की कॉल डिटेल की जांच की जा रही है। शमशेर सिंह से एसटीएफ यह भी पता लगाने में जुटी है कि पाकिस्तान से ड्रोन के जरिए विस्फोटक सामग्री कहां पहुंचाई गई। इस संबंध में टीम मौका का मुआयना भी करेगी। एसटीएफ पंजाब व जम्मू-कश्मीर के एक या दो और लोगों को इस मामले में गिरफ्तार कर सकती है।

इसी साल मार्च में भी मिले चुके है विस्फोटक

गौरतलब है कि इसी वर्ष 20 मार्च को भी अंबाला में पंजाब-हरियाणा बॉर्डर पर भी डेटोनेटर, टाइमर बम और आईईडी मिल चुके हैं। महर्षि माकंर्डेश्वर यूनिवर्सिटी सद्दोपुर के पास मैदान से मिले इन विस्फोटकों के अलावा तीन हैंड ग्रेनेड भी बरामद किए गए थे। इसके तार भी पड़ोसी देश पाकिस्तान से जुड़े होने के संकेत सामने आए थे।

ये भी पढ़े : पुलवामा में आतंकी हमले में बिहार के एक मजदूर की मौत, 2 घायल

ये भी पढ़े : देश की राजधानी दिल्ली में अगले 3 दिन, मुंबई में लगातार भारी बारिश का अनुमान

ये भी पढ़े : पंद्रह अगस्त से पहले आतंकी हमले का अलर्ट

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे !

Connect With Us : Twitter | Facebook Youtube

Latest news
Related news