चेन्नई में दूसरे चरण की मेट्रो चलेगी बिना ड्राइवर के

इंडिया न्यूज़ (चेन्नई, Chennai Metro to introduce driverless trains in Phase II): चेन्नई में दूसरी चरण के तहत बनने वाली मेट्रो पूरी तरह से चालक रहित होगी। इसपर तेजी से काम चल रहा है। इस लाइन पर ट्रेन पूरी तरह से सिग्नल व्यवस्था की मदद से चलेगी.

चेन्नई मेट्रो के निदेशक (सिस्टम-संचालन) राजेश चतुर्वेदी के अनुसार, “चेन्नई मेट्रो रेल के दूसरे चरण का काम बहुत तेज गति से चल रहा है। दूसरा चरण पूरी तरह से सिग्नल ट्रेन संचालन पर आधारित होगा। कोई ड्राइवर नहीं होगा।”

chennai metro
चेन्नई मेट्रो के दूसरे चरण का निर्माण काफी तेजी से चल रहा है.

दूसरे चरण में 118 किलोमीटर लाइन का होना है निर्माण

चेन्नई मेट्रो के दूसरे चरण के विस्तार की योजना 128 स्टेशनों के साथ 118.9 किलोमीटर नेटवर्क के लिए बनाई गई है। इसमें तीन कॉरिडोर होंगे, कॉरिडोर-3 माधवरम से सिपकोट (45.8 किमी), कॉरिडोर -4 – लाइटहाउस से पूनमल्ले बाईपास (26.1 किमी), कॉरिडोर-5- माधवरम से शोलिंगनल्लूर (47 किमी) शामिल हैं.

चेन्नई मेट्रो रेल के एक आधिकारिक बयान में कहा गया है, “परियोजना की अनुमानित लागत 63,246 करोड़ रुपये है। यह प्रस्ताव भारत सरकार की प्रक्रिया और अनुमोदन के तहत है। परियोजना को 2026 के अंत तक पूरा करने का प्रस्ताव है।”

चेन्नई मेट्रो के पहले चरण के विस्तार का उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पिछले साल 14 फरवरी को किया था। पहले चरण की मेट्रो को 3,770 करोड़ रुपये की लागत से पूरा किया गया था। 9.05 किमी लंबी यह लाइन उत्तरी चेन्नई को हवाई अड्डे और मध्य रेलवे स्टेशन से जोड़ती है.

प्रधानमंत्री ने चेन्नई तट और अट्टीपट्टू के बीच चौथी रेलवे लाइन का भी उद्घाटन किया था। यह 293.40 करोड़ रुपये की लागत से बिछाया गया ह। इसके लम्बाई 22.1 किलोमीटर है। यह खंड चेन्नई और तिरुवल्लूर जिलों से होकर गुजरता है.

Latest news
Related news