पॉलीग्राफ टेस्ट को कैसे चकमा दे रहा है आफताब, जानें

इंडिया न्यूज़( दिल्ली, Aftaab Amin poonawala polygraph Test):श्राद्ध हत्याकांड में पुलिस को मुख्य रूप से पांच चीजों की तलाश है जिसमें श्रद्धा का सिर -बॉडी के सारे टुकड़े, डीएनए रिपोर्ट, आरी -जिससे कत्ल किया था, श्रद्धा के कपड़े -जो कत्ल के वक्त पहने थे और श्रद्धा का मोबाइल शामिल है।

यह जानने के लिए पुलिस आरोपी आफताब का पॉलीग्राफ टेस्ट करवा रही और पांच दिसंबर को नार्को टेस्ट भी करवाने वाली है। लेकिन क्या आप जानते है आफताब पॉलीग्राफ टेस्ट में पुलिस को चकमा दे रहा, आइये आपको बताते है।

लगातार हो रहा है बीमार

जब आफताब का पहली बार बुधवार को पॉलीग्राफ टेस्ट होने था तो वह मंगलवार को बीमार हो गया। जब शुक्रवार को उसका टेस्ट होना था तब भी वह बीमार हो गया, जिस कारण उसका टेस्ट शुक्रवार को नही हो पाया, और सोमवार 28 नवंबर को उसका फिर से टेस्ट होने वाला है।

जिसमें बचे हुए सवाल पूछे जाएंगे। हालांकि अभी तक पूछे गए सवालों का सही जवाब न देकर वह पुलिस को चकमा दे चुका है। जिसके बाद अब इस केस के खुलासे की उम्मीदें नार्को टेस्ट पर टिकी हैं।

FSSL के सहायक निदेशक व पीआरओ संजीव गुप्ता ने बताया कि “आफताब का सोमवार को फॉरेंसिक साइंस लेबोरेटरी में पॉलीग्राफ टेस्ट किया जाएगा, पॉलीग्राफ टेस्ट में कई सेशन होते हैं, जो शेष बचे थे, वही पूरे किए जाएंगे, पिछला सेशन जब हुआ था, तो सेहत संबंधित परेशानी थी। इस वजह से कुछ रह गया था।”

उन्होंने आगे कहा “नार्को टेस्ट के लिए हमारा लैब और हमारी तैयारी पूरी है। ये कब होगा, इसकी जानकारी हमें नहीं है। अफताब टेस्ट के दौरान सहयोग कर रहा है या नहीं, ये हम जांच एजेंसी को ही बताएंगे, ये गोपनीय मामला है।”

कई सवालों का नही दिया जवाब

आफताब खुद को इतना होशियार समझाता, इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि पॉलीग्राफ टेस्ट में भी उसने पुलिस को चकमा दे दिया। वह कई सवालों पर चुप रहा, कई सवाल टाल गया। कई सवालों के आधे-अधूरे जवाब दिए तो कई सवालों पर मुस्कुराता रहा।

आफताब की सुरक्षा को तिहाड़ जेल ने सारे एहतियाती इंतजाम किए हैं। सुरक्षा के लिहाज से उसको अलग सेल में रखा गया है। यह वह सेल है जहां पहली बार कैदी को रखा जाता है, आफताब के साथ किसी और कैदी को नही रखा गया है। उसके सेल के बाहर हर वक्त एक पुलिसकर्मी तैनात रहता है। सीसीटीवी कैमरे से भी आफताब पर नज़र रही जाती है।

ड्रग्स तस्कर दोस्त गिरफ्तार

केस में ज्यादा से ज्यादा जानकारी जुटाने और पुख्ता सबूत पाने की पुलिस हर उस शख्स तक पहुंच रही है, आज ही पुलिस से सूरत से फैज़ल मोमिन नाम के आदमी को गिरफ्तार किया है, उसपर आरोपों है उसने आफताब को ड्रग की सप्लाई की थी। फैजल और आफताब के कई कॉमन फ्रेंड हैं।

इससे पहले, रिपोर्टों में कहा गया था कि आफताब एक ड्रग एडिक्ट था और उसने कबूल किया कि वह चरस, गांजा और सिगरेट का सेवन करता है और इन चीजों का आदि है। आफताब कथित तौर पर श्रद्धा की हत्या करने के बाद पूरी रात शव के बगल में बैठा रहा और गांजा पीता रहा।

दूसरी लकड़ी तक पहुंची पुलिस

दिल्ली पुलिस उस लड़की तक भी पहुंचने में कामयाब रही है जो श्रद्धा की हत्या के बाद आफताब से डेटिंग ऐप पर मिली थी और तब आफताब के फ्लैट पर आई थी जब श्रद्धा का शव उसके फ्रिज में पड़ा था।

पुलिस ने उस लड़की की पहचान भी कर ली है। ये लड़की पेशे से साइकोलॉजिस्ट है। पुलिस इससे पूछताछ कर चुकी है और माना जा रहा है कि उसने आफताब के बारे में अहम सुराग भी दिए हैं.

Latest news
Related news