टोक्यो पैरालंपिक्स : प्रवीण ने हाई जंप में जीता रजत पदक, अवनि को निशानेबाजी में कांस्य

पैरालंपिक में भारत को दो पदक
इंडिया न्यूज, टोक्यो:
टोक्यो पैरालंपिक्स में भारतीय खिलाड़ियों का दमदार प्रदर्शन जारी है। शुक्रवार को भारत को गोल्ड मेडल दिलाने वाली निशानेबाज अवनि लेखरा ने एक और बड़ी उपलब्धि हासिल करने में कामयाबी हासिल की। अवनि लेखरा ने 50 मीटर शूटिंग राइफल में देश को ब्रॉन्ज मेडल दिलाने का कारनामा किया है। इस टोक्यो पैरालिंपिक्स में अवनि लेखरा का यह दूसरा मेडल है। पैरालंपिक्स खेलों के इतिहास में पहली गोल्ड मेडल जीतने वाली अवनि के लिए यह टोक्यो पैरालंपिक बेहद शानदार गुजरा है। इसके अलावा पुरुषों के हाई जंप कैटेगरी में प्रवीण कुमार ने 2.07 मीटर की हाई जंप में सिल्वर मेडल हासिल किया। प्रवीण कुमार ने हाई जंप में नया एशियन रिकॉर्ड भी बनाने का कारनामा किया। प्रवीण का पैरालंपिक में यह पहला पदक है। उन्होंने इससे पहले 2019 विश्व पैरा एथलेटिक्स जूनियर चैंपियनशिप में पुरुष ऊंची कूद टी44 इवेंट में रजत पदक जबकि दुबई में इस साल हुए फाजा ग्रां प्री विश्व पैरा एथलेटिक्स में एशियाई रिकॉर्ड के साथ स्वर्ण पदक जीता था। इन दोनों ही खिलाड़ियों के प्रदर्शन से देश में खुशी की लहर है, सोशल मीडिया पर हर कोई इनकी तारीफों के पुल बांध रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रवीण कुमार की तारीफ करते हुए कहा कि यह उनकी कड़ी मेहनत और अद्वितीय समर्पण का नतीजा है। मोदी ने ट्वीट कर कहा, पैरालिंपिक में रजत पदक जीतने वाले प्रवीण कुमार पर गर्व है। यह पदक उनकी कड़ी मेहनत और अद्वितीय समर्पण का नतीजा है। उन्हें बधाई। भविष्य के लिए उन्हें शुभकामनाएं। वहीं लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने भी प्रवीण और अवनी को बधाई दी। उन्होंने कहा कि प्रवीण ने पदक जीतने के साथ एशियाई रिकॉर्ड भी बनाया। उनकी दोहरी उपलब्धि भारतीय युवाओं के सामर्थ्य और प्रतिबद्धता की प्रतीक है। बिरला ने कहा कि राजस्थान की बेटी अवनी लेखरा ने कांस्य पदक जीत इतिहास रचा है। पैरालंपिक खेलों में दूसरा पदक देश को गौरवान्वित करने वाली उपलब्धि है। यह सफलता उनके निष्ठापूर्ण समर्पण अद्भुत क्षमताओं की परिचायक है।

Latest news
Related news