इस बार टॉप आर्डर को बनाने होंगे खूब रन

रीतिंद्र सिंह सोढी
ओवल टेस्ट के लिए टीम इंडिया ने अगर प्रसिद्ध् कृष्णा को टीम में शामिल किया है तो इसकी एक वजह उनकी अच्छी खासी रफ्तार है। वह रॉ पेस से गेंदबाजी करके असरदार साबित हो सकते हैं। बेशक तीन वनडे अंतरराष्ट्रीय मैचों में उनकी गेंदबाजी पर खूब रन बने थे लेकिन रेड बॉल एक अलग तरह का क्रिकेट होता है। टीम मैनेजमेंट ने नेट्स पर उनकी लय जरूर देखी होगी। बहुत से कारणों पर विचार करने के बाद ही उन्होंने उनकी मांग की होगी। मुझे विश्वास है कि पी कृष्णा उनके भरोसे पर खरे उतरेंगे। बेशक टीम में बुमराह, शमी, सीराज, ईशांत, शार्दुल और उमेश यादव मौजूद हों लेकिन जो खिलाड़ी सबसे ज्यादा लय में हो, टीम उसे ही प्राथमिकता देती है।

मेरे ख्याल से कृष्णा ईशांत शर्मा की ही जगह लेंगे। उनके पक्ष में एक बात यह भी जाती है कि उनका सामना इंग्लैंड के बल्लेबाजों ने अभी तक किया नहीं है। वह अपनी अच्छी लय से चौंका सकते हैं। पर मेरी सबसे बड़ी चिंता टीम इंडिया को लेकर बल्लेबाजी है। बल्लेबाजों को स्कोरबोर्ड पर रन टांकने ही होंगे। खासकर टॉप आॅर्डर में से किसी को डेढ़ सौ के आस पास की पारी भी खेलनी होगी। विराट, पुजारा, रोहित और राहुल पर सबकी निगाहें टिकी हुई हैं। इनमें कुछ बल्लेबाज 50-60 रन बनाकर अपने विकेट खो रहे हैं। अब उससे बचना होगा इंग्लैंड के कप्तान जो रूट भी तो खूब रन बना रहे हैं और वह भी लगातार अच्छी बल्लेबाजी करके। ऐसा ही बीड़ा भारतीय टीम में भी किसी को उठाना होगा। अगर आप टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए 78 पर सिमट जाओगे तो उससे टीम पर दबाव ही आएगा। अब पहले बल्लेबाजी करते हुए 400 से 500 रन बनाइए, तभी आप जीत के बारे में सोच सकते हैं।

इसमें कोई शक नहीं कि हमारी बॉलिंग मजबूत है। अगर स्कोरबोर्ड पर रन होंगे तो गेंदबाज और भी अच्छा प्रदर्शन कर सकेंगे। अब अपनी पुरानी गलतियों से खासकर बल्लेबाजों को बचना होगा। आॅफ स्टम्प से बाहर जाती गेंदों को छोड़ने की आदत डालनी होगी। मध्य क्रम में खासकर ऋषभ पंत को इससे बचना होगा। अगर उनके जैसा बल्लेबाज इस बात को समझ गया तो भारत की काफी परेशानियों का हल हो जाएगा।

टीम में मैं दो बदलाव देखता हूं। ईशांत की जगह कृष्णा के अलावा जडेजा की जगह आर अश्विन को इस मैच में खिलाया जा सकता है। वैसे काफी कुछ सुबह की स्थितियों पर निर्भर करेगा। अश्विन का अनुभव टीम के लिए काफी उपयोगी साबित हो सकता है।

अब विराट से बड़ी पारी की दरकार है। विराट ओवल में मैच के टर्निंग पॉइंट साबित हो सकते हैं। उनका फुटवर्क भी सही काम कर रहा है। तकनीक में कोई कमी नहीं है। जितनी कमी दिखी भी, उसकी खूब आलोचना हो चुकी है। यहां उनसे बड़ी पारी की उम्मीद है। मैं तो उनके बल्ले से सेंचुरी की उम्मीद कर रहा हूं।
(लेखक टीम इंडिया के पूर्व खिलाड़ी हैं)

SHARE
Latest news
Related news