तालिबान के फैसले से मुश्किल में राशिद खान की टीम

इंडिया न्यूज, नई दिल्ली:
अफगानिस्तान पर तालिबान के कब्जे के बाद लगातार वहां के हालात बिगड़ते जा रहे हैं, लोग लगातार अपने ही देश पलायन पर मजबूर हैं। विदेशी नागरिकों, अधिकारियों के साथ ही कई अफगानी नागरिक भी देश छोड़कर जा चुके हैं। तालिबान के कब्जे से अफगानिस्तान के खेल के मामले भी प्रभावित हो रहे हैं। हांलाकि तालिबान ने कहा है कि क्रिकेट से उसे लगाव है और उस पर वह किसी भी तरह की पाबंदी नहीं लगाएंगे। इसी बीच आॅस्ट्रेलिया ने अफगानिस्तान के खिलाफ होने वाले इकलौते टेस्ट मैच को रद्द करने की धमकी दी है। बता दें कि तालिबान ने कहा था कि वह सिर्फ पुरुष क्रिकेट टीम को ही इसकी इजाजत देगा, न कि महिला टीम को। एक इंटरव्यू में तालिबान के नेता ने कहा था कि क्रिकेट महिलाओं के लिए जरूरी श्रेणी में नहीं आता, इसलिए उसकी इजाजत नहीं दी जाएगी। वहीं इस बयान पर आॅस्ट्रेलिया ने स्पष्ट कहा है कि अगर महिलाओं पर प्रतिबंध की खबरें सच होती हैं तो होबार्ट में होने वाले टेस्ट मैच को रद्द कर दिया जाएगा। बता दें कि अफगानिस्तान पुरुष क्रिकेट टीम को इस साल 27 नवंबर से होबार्ट में इकलौता टेस्ट खेलना है। यह मुकाबला पिछले साल ही होना था। लेकिन कोरोना के कारण लागू यात्रा प्रतिबंधों की वजह से मैच नहीं हो पाया था। यह आॅस्ट्रेलिया में अफगानिस्तान का पहला मैच होगा। बता दें कि तालिबान ने कहा था कि इस्लाम के शरिया कानून के तहत ऐसी किसी भी गतिविधि में महिलाओं को शामिल नहीं होने दिया जाएगा, जिसमें उनके शरीर का अंग दिखने की संभावना हो। बता दें कि अफगानिस्तान के खिलाड़ियों के आगामी टी 20 विश्व कप 2021 में भाग लेने की उम्मीद है, हालांकि आईसीसी देश की स्थिति पर करीब से नजर रखे हुए है।

Latest news
Related news