भारतीय महिलाओं ने इंग्लैंड में रचा इतिहास, 23 साल में पहली बार इंग्लैंड में जीती कोई सीरीज

इंडिया न्यूज़, नई दिल्ली, (INDW vs ENGW):

भारतीय महिला टीम और इंग्लैंड महिला टीम (INDW vs ENGW) के बीच आज 3 मैचों की वनडे सीरीज का दूसरा मुकाबला कल कैंटरबरी के सेंट लॉरेंस क्रिकेट ग्राउंड में खेल गया। इस मैच में भारत की टीम ने इंग्लैंड को 88 रनों से करारी शिकस्त दी और इंग्लैंड की धरती पर 23 साल बाद कोई सीरीज जीतकर इतिहास रच दिया।

इससे पहले भारत की टीम इस वनडे सीरीज का पहला मुकाबला 7 विकेट से जीती थी और अब दूसरे मुकाबले में भारत ने 88 रनों से बड़ी जीत दर्ज की है। 3 मैचों की वनडे सीरीज में भारत की महिला टीम अब 2-0 की अजेय बढ़त बना चुकी है। टी-20 श्रृंखला में 1-2 से हार का सामना करने के बाद,

हरमनप्रीत कौर की अगुवाई वाली भारतीय टीम ने खेल के सभी विभागों में अपने मानकों को बढ़ाकर तीन दिनों के समय में शानदार वापसी की और इंग्लैंड को वनडे श्रृंखला में बुरी तरह मात दी। हरमनप्रीत कौर ने शानदार 143 रन बनाए और गेंदबाजी में रेणुका ठाकुर ने 4 विकेट लेकर इंग्लैंड की बल्लेबाजी की कमर तोड़ दी।

हरमनप्रीत के शानदार शतक की बदौलत भारत ने अपने निर्धारित 50 ओवरों में 333 रनों का विशाल स्कोर खड़ा किया। जिसके जवाब में मेजबान टीम 245 रनों पर ही ढेर हो गई और भारत ने इंग्लैंड की धरती पर एक ऐतिहासिक जीत दर्ज की।

हरमनप्रीत ने खेली शानदार पारी

टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी के लिए उतरी भारत की टीम की शुरुआत कुछ ख़ास अच्छी नहीं रही। शेफाली वर्मा मैच के दूसरे ही ओवर में आउट होकर पवेलियन लौट गई। लेकिन इसके बाद स्मृति मंधाना और यास्तिका भाटिया ने भारत की पारी को संभाल लिया। दोनों बल्लेबाजों के बीच 54 रनों की अर्धशतकीय साझेदारी हुई।

यास्तिका भाटिया 26 रन बनाकर और स्मृति मंधाना 40 रन बनाकर आउट हुई। इसके बाद कप्तान हरमनप्रीत कौर और हरलीन देओल ने मोर्चा संभाला और दोनों के बीच चौथे विकेट के लिए 113 रनों की शतकीय साझेदारी हुई। हरलीन देओल 58 रन बनाकर आउट हुई।

लेकिन दूसरी तरफ हरमनप्रीत क्रीज पर डटी रही और इंग्लिश गेंदबाजों की पिटाई जारी रखी। हरमनप्रीत कौर ने आखिरी 5 ओवरों में ताबड़तोड़ बल्लेबाजी की और 111 गेंदों में नाबाद 143 रन बनाकर वापिस लौटी। हरमन के इस शानदार प्रदर्शन की बदौलत भारत ने 50 ओवरों में 333 रनों का स्कोर खड़ा किया।

भारत ने 88 रनों से जीता मैच

334 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी इंग्लैंड की शुरुआत बेहद खराब रही। इंग्लैंड का टॉप 3 पूरी तरह फ्लॉप रहा। लेकिन इसके बाद एलिस कैप्सी (39) और डैनी वायट (65) ने कुछ हद तक मैच में इंग्लैंड की वापसी कराई। दोनों बल्लेबाजों ने 100 से ज्यादा के स्ट्राइक रेट के साथ रन बनाए और भारत के गेंदबाजों पर दबाव बनाना शुरू किया।

कप्तान एमी जोन्स ने भी 39 रनों की शानदार पारी खेली। लेकिन कप्तान एमी जोन्स के आउट होते ही इंग्लैंड की पारी बिखर गई। मेजबान टीम का और कोई भी बल्लेबाज ज्यादा देर तक क्रीज पर नहीं टिक पाया। भारत की तरफ से रेणुका सिंह ने शानदार गेंदबाजी की और

इंग्लैंड के 4 बल्लेबाजों को आउट करके उनकी बल्लेबाजी की कमर तोड़ दी। हालांकि अंत में चार्लोट डीन ने 37 रनों की अच्छी पारी जरूर खेली, लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी थी। इंग्लैंड 44.2 ओवर में 245 रन पर ही ढेर हो गई और भारत ने 88 रनों से बड़ी और ऐतिहासिक जीत दर्ज कर ली।

भारत की प्लेइंग-11

स्मृति मंधाना, शैफाली वर्मा, यास्तिका भाटिया (विकेटकीपर), हरमनप्रीत कौर (कप्तान), दयालन हेमलता, हरलीन देओल, दीप्ति शर्मा, पूजा वस्त्राकर, झूलन गोस्वामी, रेणुका सिंह, राजेश्वरी गायकवाड़

इंग्लैंड की प्लेइंग-11

एम्मा लैम्ब, टैमी ब्यूमोंट, सोफिया डंकले, एलिस कैप्सी, डेनिएल व्याट, एमी जोन्स (कप्तान और विकेटकीपर), फ्रेया केम्प, सोफी एक्लेस्टोन, चार्लोट डीन, केट क्रॉस, लॉरेन बेल

ये भी पढ़े : महिला एशिया कप 2022 के लिए भारतीय महिला टीम की हुई घोषणा

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे !

Connect With Us : Twitter | Facebook Youtube

Latest news
Related news