IND vs SA series in Corona Crisis भारत और दक्षिण अफ्रीका सीरीज पर छाया कोरोना संकट

इंडिया न्यूज, नई दिल्ली :
IND vs SA series in Corona Crisis :
कोरोना वायरस का बदलता म्यूटेशन चिंता का विषय बनता जा रहा है। इन दिनों दक्षिण अफ्रीका में कोरोना का नया वैरिएंट बी.1.1.529 मिला है। भारत के बाहर दक्षिण अफ्रीका, हॉन्ग-कॉन्ग और बोत्सवाना में इस म्यूटेशन के 50 केस मिल चुके हैं।

हालांकि भारत में इस वैरिएंट का कोई केस नहीं है। इसी बीच भारतीय क्रिकेट टीम को दक्षिण अफ्रीका के दौरे पर जाना है। भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच 17 दिसंबर से 26 जनवरी तक द. अफ्रीका के जोहान्सबर्ग, प्राल, केपटाउन और सेंचुरियन में कुल 10 मैच खेले जाने हैं।

इनमें 3 टेस्ट मैच, 3 वनडे और 4 टी20 मैच होने हैं । लेकिन कोरोना के नए वैरिएंट ने सबकी चिंता बढ़ा दी है। द. अफ्रीका में इस वक्त भी इंडिया ए टीम सीरीज खेल रही है।

सीरीज पर पड़ सकता है असर IND vs SA series in Corona Crisis

कोरोना के नए वैरिएंट का असर भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच होने वाली सीरीज पर पड़ सकता है। दोनों टीमों के बीच 5 मैच केपटाउन, 3 पार्ल और 1-1 मैच जोहान्सबर्ग और सेंचुरियन में खेला जाना है। इस समय साउथ अफ्रीका में सबसे ज्यादा प्रभावित इलाका गॅटेंग है।

जोहान्सबर्ग और सेंचुरियन शहर गॉटेंग प्रांत में आते हैं। केपटाउन और पार्ल शहर वेस्टर्न केप प्रांत में आते हैं। नए वैरिएंट के फोकस वाले क्षेत्रों में वेस्टर्न केप भी शामिल है। इस बीच यह सवाल पैदा हो रहा है कि क्या इन हालातों में सीरीज हो सकती है।

नए म्यूटेशन से खतरनाक हुआ वायरस IND vs SA series in Corona Crisis

नया वैरिएंट बी.1.1.529 बोत्सवाना में भी मिला है। इस वैरिएंट से 32 म्यूटेशन हो रहे हैं। वहीं वैज्ञानिकों ने इस बात को लेकर चेतावनी दी है कि वैक्सीन भी इसके खिलाफ कारगर नहीं है। ये वैरिएंट अपने स्पाइक प्रोटीन में बदलाव कर काफी तेजी से फैल रहा है। IND vs SA series in Corona Crisis

दक्षिण अफ्रीका के नेशनल इंस्टीट्यूट आफ इंफेक्शियस डिजीज की रिपोर्ट के अनुसार अभी तक देश में 22 केस मिले हैं। वैज्ञानिकों ने इस वैरिएंट को काफी खतरनाक बताया है। वहीं वैज्ञानिकों ने बताया है कि इस वैरिएंट के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं मिल रही है। यह चिंता की बात है।

भारत में नहीं मिला मामला IND vs SA series in Corona Crisis

 

कोरोना के नए वैरिएंट का अभी तक कोई मामला नहीं मिला है। वहीं सूत्रों के अनुसार बी.1.1.529 नाम का यह वैरिएंट देशभर टेस्टिंग लैब्स में भेजे गए किसी भी सैंपल में नहीं मिला है। यह भारत के लिए राहत की खबर है। यह स्ट्रेन हॉन्गकॉन्ग तक पहुंच गया है।

केंद्र सरकार ने जारी की गाइडलाइन IND vs SA series in Corona Crisis

कोरोना के नए वैरिएंट को रोकने के लिए सरकार ने कमर कस ली है। वहीं वैरिएंट के मद्देनजर हॉन्गकॉन्ग और बोत्सवाना से आने वाले यात्रियों की जांच के लिए एयरपोर्ट्स पर निर्देश जारी किए हैं।

इसके साथ ही सरकार ने राज्यों को सतर्कता बरतने के निर्देश दिए हैं। साथ ही कहा है कि वे दक्षिण अफ्रीका, हॉन्गकॉन्ग और बोत्सवाना से आने वाले यात्रियों की अच्छी तरह से जांच करें। वहीं डॉक्टर्स नए वैरिएंट को समझने की कोशिश कर रहे हैं।

Read More : Corona New Variant बढ़ा खतरा, अफ्रीकी देशों की यात्रा पर बैन

Connect With Us : Twitter Facebook

Latest news
Related news