भारत डेविस कप में नार्वे से 0-3 से हारा

इंडिया न्यूज़, नई दिल्ली, (Davis Cup):

डेविस कप (Davis Cup) में भारत का अभियान निराशाजनक रूप से समाप्त हो गया। क्योंकि वह शनिवार को यहां विश्व ग्रुप- I मुकाबले में नॉर्वे के खिलाफ 0-3 से हार गया। भारत पहले दिन के खराब प्रदर्शन के बाद दूसरे दिन नई उम्मीद के साथ आया।

लेकिन वह पहले रोडब्लॉक पर ही लड़खड़ा गया क्योंकि युकी भांबी और साकेत माइनेनी की युगल जोड़ी विश्व नंबर 2 कैस्पर रूड और विक्टर डुरासोविक के सामने फीकी नजर आई। एक घंटे 50 मिनट तक चले मैच में 6, 6-3,3-6 ने भारत की विश्व ग्रुप क्वालीफायर में जगह बनाने की उम्मीदों पर पानी फेर दिया।

दोनों एकल में हारने के बाद युकी और साकेत की जोड़ी ने भारत को बचाए रखा। लेकिन नार्वे के खिलाड़ी भारत के खिलाड़ियों पर हावी हो गए। नॉर्वे ने अब डेविस कप में भारत को 3-0 से हरा दिया है।

Davis Cup के पहले दिन भी रहा था खराब प्रदर्शन

दबाव में, भारत की शुरुआत मैच में अच्छी नहीं रही। क्योंकि वे पहले ही दिन खेल में 2-0 से पीछे थे। हालांकि, बीच-बीच में भारतीय खिलाड़ियों ने वापसी का प्रयास जरूर किया, लेकिन नॉर्वे के खिलाड़ियों ने भारतीय खिलाड़ियों ने अच्छा खेल दिखाया।

नॉर्वे ने दूसरे दिन के खेल में आसानी से शुरुआती सेट को जीत लिया। जिसके बाद भारत के खिलाड़ियों को वापसी का ज्यादा मौका नहीं मिला। हालांकि भारत ने दूसरे सेट में जीत जरूर हांसिल की। रुड और डुरासोविक पूरी तरह से चकित लग रहे थे, लेकिन भारत दूसरे सेट को जीतने में कामयाब रहा।

उन्होंने भारतीय प्रशंसकों को खुश होने का एक मौका दिया और मैच को निर्णायक सेट तक ले जाने के लिए दूसरा गेम जीत लिया। भारत तीसरे सेट में फिर धीमा पड़ने लगा और नॉर्वे के खिलाड़ियों ने इसी बात का फायदा उठाया और गेम को अपने पक्ष में कर लिया।

दोनों खिलाड़ी 1-6, 4-6 के समान अंतर से हारे

पहले मैच में 335वें नंबर के प्रजनेश गुणेश्वरन ने दुनिया के दूसरे नंबर के कैस्पर रूड के खिलाफ संघर्ष किया और एक घंटे दो मिनट में हार गए। यूएस ओपन के फाइनलिस्ट कैस्पर रूड ने पहले सेट में पहले पांच गेम जीते। प्रजनेश गुणेश्वरन ने छठे गेम में स्कोरबोर्ड पर पहुंचने के लिए दो इक्के खींचे।

लेकिन अंत में मैच नहीं बचा सके। गुणेश्वरन ने दूसरे सेट में अपना बेहतर प्रदर्शन किया। लेकिन वें इस मैच को नहीं जीत पाए। इसके बाद रामकुमार रामनाथन, जो 275 रैंक पर भारत के सर्वोच्च रैंक वाले पुरुष एकल खिलाड़ी थे। वह दुनिया के 325वें नंबर के विक्टर दुरसोविक के खिलाफ जीत के लिए पसंदीदा थे।

लेकिन वह अपनी प्रतिष्ठा पर कायम नहीं रहे और एक घंटे तक चले मैच में ड्यूरासोविक से हार गए। पहले सेट में डुरासोविक के 5 इक्के ने भारत के शीर्ष क्रम के खिलाड़ी के लिए वापसी करना मुश्किल बना दिया और अंत में गेम को जीत लिया।

ये भी पढ़े : आईपीएल 2023 से पहले मार्क बाउचर बने मुंबई इंडियंस के नए हेड कोच

ये भी पढ़े : कंगारूओं के खिलाफ आग उगलता है विराट का बल्ला

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे !

Connect With Us : Twitter | Facebook Youtube

Latest news
Related news