रोमांचक सेमीफाइनल मुकाबले में हारी भारतीय महिला हॉकी टीम, ऑस्ट्रेलिया ने शूटआउट में जीता मुकाबला

वैभव शुक्ला, नई दिल्ली, (CWG 2022):

बर्मिंघम राष्ट्रमंडल खेलों 2022 (CWG 2022) में महिला हॉकी के दूसरे सेमीफाइनल में भारत को ऑस्ट्रेलिया के हाथों शूटआउट 3-0 से हार का सामना करना पड़ा। मुकाबले में पहले फुल टाइम के बाद स्कोर 1-1 से बराबर रहा। इस तरह मैच पेनल्टी शूटआउट तक पहुंचा।

शूटआउट में ऑस्ट्रेलिया ने शुरुआती तीनों गोल दागे, जबकि भारतीय टीम की ओर से कोई खिलाड़ी गोल नहीं दाग सका। शूटआउट में दोनों टीमों को पांच-पांच प्रयास मिलते हैं और ज्यादा गोल करने वाली टीम जीत जाती है।

शूटआउट में पहले तीन प्रयासों में भारत विफल रहा और ऑस्ट्रेलियाई टीम जीत गई। अब महिला हॉकी के फाइनल में ऑस्ट्रेलियाई टीम का सामना इंग्लैंड से होगा। तो वहीं, भारतीय महिला टीम अब कांस्य पदक के लिए न्यूजीलैंड से रविवार को भिड़ेगी।

फुल टाइम के बाद स्कोर 1-1 से बराबर

मुकाबले में सबसे पहले ऑस्ट्रेलिया ने 10वें मिनट में गोल किया। ऑस्ट्रेलिया की तरफ से रेबेका ग्रेनर ने यह गोल दागा था। वहीं, भारत की तरफ से चौथे क्वार्टर में 49वें मिनट में वंदना कटारिया ने गोल देगा और स्कोर 1-1 से बराबर किया। इसके बाद फुल टाइम तक कोई गोल नहीं हो सका।

भारत ने नहीं उठाया पेनल्टी कॉर्नर का फायदा

पहले क्वार्टर में ऑस्ट्रेलिया ने भारत पर शुरू से ही दबाव बनाए रखा। ऑस्ट्रेलिया लगातार काउंटर अटैक करती रही और इसका फायदा उन्हें 10वें मिनट में मिला। रेबेका ग्रेनर ने 10वें मिनट में भारत के ‘डी’ में घुसकर गोल किया।

टीम इंडिया को पहले क्वार्टर में दो पेनल्टी कॉर्नर तो मिले, लेकिन भारतीय टीम दोनों ही पेनल्टी कॉर्नर में गोल नहीं कर सकी। पहले क्वार्टर में ऑस्ट्रेलिया ने भारत पर 1-0 की बढ़त बना रखी।

ऑस्ट्रेलिया के डिफेंस को नहीं भेद सका भारत

दूसरे क्वार्टर में दोनों टीमें कोई गोल नहीं कर पाईं। भारतीय टीम ने दूसरे क्वार्टर में शानदार खेल दिखाया और बॉल पजेशन अपने पास बनाए रखने में कामयाब रही। भारत ने लगातार काउंटर अटैक जरूर किए,

लेकिन ऑस्ट्रेलियाई डिफेंस को भेद न सके। भारत के हाथ दूसरे क्वार्टर में भी दो पेनल्टी कॉर्नर मिले, लेकिन ड्रैग फ्लिकर गुरजीत कौर उसे गोल में तब्दील नहीं कर सकीं। दूसरे क्वार्टर के बाद भी ऑस्ट्रेलिया ने 1-0 की बढ़त बनाए रखी।

तीसरे क्वार्टर में भी ऑस्ट्रेलिया की बढ़त बरक़रार

तीसरे क्वार्टर की शुरुआत से ही ऑस्ट्रेलिया ने काउंटर अटैक जारी रखा। 33वें और 39वें मिनट में ग्रेटा हेस ने दो शॉट मिस किए। इसके बाद तीसरे क्वार्टर के आखिरी दो मिनट में ऑस्ट्रेलिया ने लगातार पांच पेनल्टी कॉर्नर हासिल किए।

हालांकि, गोलकीपर सविता पूनिया और भारतीय डिफेंस के आगे उनकी एक न चली। इस तरह तीसरे क्वार्टर के बाद भी ऑस्ट्रेलियाई टीम 1-0 से आगे थी।

चौथे क्वार्टर का खेल

भारत ने चौथे क्वार्टर की शुरुआत आक्रामक अंदाज में करते हुए 49वें मिनट में फ्री हिट ली। इस पर लालरेमसियामी के शॉट पर गेंद गोल पोस्ट पर मौजूद वंदना कटारिया के स्टिक से लगकर गोल पोस्ट में जा गिरी। इस गोल के साथ ही भारत ने स्कोर 1-1 से बराबर कर दिया।

आखिरी कुछ मिनट में भी भारत ने काउंटर अटैक जारी रखा, लेकिन गोल हाथ नहीं लगा। फुल टाइम यानी 60 मिनट के बाद स्कोर 1-1 ही रहा। इसके बाद हुए शूटआउट में ऑस्ट्रेलिया ने इस मुकाबले को 3-0 से जीतकर फ़ाइनल में जगह बनाई।

भारत ने राष्ट्रमंडल खेलों में दो पदक जीते

भारत इस मुकाबले को जीतकर 16 साल बाद फाइनल में जगह बनाना चाहता था, लेकिन ऑस्ट्रेलिया ने उसे ऐसा करने नहीं दिया। भारत ने पिछली बार 2006 में फाइनल में जगह बनाई थी। हालांकि वहां भी उसे ऑस्ट्रेलिया ने मात दी थी। भारतीय महिला हॉकी टीम ने राष्ट्रमंडल खेलों में एक स्वर्ण और एक रजत जीता है।

भारतीय महिला हॉकी टीम ने 2002 में इंग्लैंड को हराकर गोल्ड मेडल अपने नाम किया था। जबकि 2006 में भारत ने रजत पदक जीता था। उससे पहले भारत 1998 में चौथे स्थान पर रहा था।

2018 गोल्ड कोस्ट राष्ट्रमंडल खेलों में भारतीय महिला टीम कांस्य पदक के मैच में हारकर चौथे स्थान पर ही रही थी। वहीं, ऑस्ट्रेलियाई टीम अब फाइनल में लगातार पांचवीं बार खिताब जीतने उतरेगी।

ये भी पढ़ें: एशिया कप के लिए टी-20 टीम में वापसी के लिए तैयार केएल राहुल और दीपक चाहर, सोमवार को होना है एशिया कप की टीम का ऐलान

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे !

Connect With Us : Twitter | Facebook Youtube

Latest news
Related news