हमारी लड़ाई केवल राजनीतिक: कुमारी शैलजा

प्रवीण वालिया, करनाल:

गत 28 अगस्त को किसानों पर लाठी चार्ज की घटना के बाद से हरियाणा की राजनीति में गर्माहट आ गई है। कांग्रेस किसानों के साथ खड़ी है व घटना के जिम्मेदार अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग सरकार से की जा रही है। एक के बाद एक कांग्रेसी नेता करनाल का दौरा कर किसानों के साथ खड़े दिखाई दे रहे हैं। इसी कड़ी में आज कुमारी शैलजा करनाल पहुंची। कांग्रेसी विधायक भी शैलजा के साथ मौजूद रहे। इस मामले में कांग्रेसियों ने राज्यपाल के नाम एडीसी को ज्ञापन भी दिया। कांग्रेस की प्रदेश अध्यक्ष कुमारी शैलजा ने सैक्टर 12 में कांग्रेस कार्यकर्ताओं को भी संबोधित किया। कुमारी शैलजा ने कहा कि पूरे हरियाणा के हर जिले में कांग्रेस जन सरकार की ताना शाही रवैए के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं। कुमारी शैलजा ने कहा कि करनाल में बर्बरता पूृर्ण हमारे किसानों पर हमला किया गया। यह हमला पहली बार नहीं हुआ हर बार किया जाता है। इसकी जिम्मेवार खट्टर सरकार है। हर बार किसानों को ही दोषी ठहरा देते हैं। सरकार की जिम्मेदारी होती है तो यदि कोई समस्या होती है तो उनकी बात सुने। और उसका कोई निदान निकाले। लाठियां बरसाकर उनका खून बहाना गलत है। नौ महीने से किसान सडक़ों पर बैठा है। किसान पूरी शांति से अपना आंदोलन चला रहा है। लेकिन सरकार ने कान बंद किए हैं और आंखों पर पट्टी बांध रखी है। किसानों को बुरी तरह चोटें मार रखी हैं। किसानों की आंख तक पर चोटें मारी हुई हैं। सरकार को चाहिए था किसानों से बात करे। लेकिन अब ये ताना शाह हो गए हैं। इतिहास के पन्नों पर पड़ा था कि कोई नादिरशाह होता था। आज हम तानाशाही यहां पर देख रहे हैं। किसान मजदूर आम आदमी कोई भी नागरिक हरियाणा वासी ऐसी बातों को बर्दाश्त नहीं कर सकता। साथियों समय आने पर हरियाणा की जनता इन्हें सबक सिखाएगी। मुख्यमंत्री कुछ कहते हैं उपमुख्यमंत्री कुछ कहते हैं। केवल लोगों को उलझाने के लिए। और यदि ये कहा जाए कि किसानों को मारो, पीटों और उनके सिर फोड़ दो यह तो घोर निंदनीय है। हम दो दिन पहले नैशलन हयूमन राईटस कमीशन से मिले थे। उन्हें सारी घटना से अवगत करवा दिया गया है। हम उम्मीद करेंगे की हमें इंसाफ मिलेगा। कुमारी शैलजा ने कहा कि हम राजनीतिक लड़ाई लड़ते हैं सडक़ पर लड़ते हैं,सदन में लड़ते हैं। कांग्रेस हर समय अन्न दाताओं के साथ खड़ी है। उन्होंने कहा कि हर रोज पैट्रोल डीजल के दाम बढ़ा दिए जाते हैं। पैट्रौल डीजल के रेट आसमान छू रहे हैं। हर रोज कीमतें बढ़ती हैं। घर बार चलाना दुश्वार हो गया है। गरीब आदमी को खाने के लिए दाने नहीं हैं। किसान अपनी पैदावार ठीक से नहीं कर पा रहा। खपत बढ़ती जा रही है। कुमारी शैलजा ने कहा कि किसी भी ग्रहणि से पूछिए की वह घर बार कैसे चला रही है। रोजगार के बुरे हाल हैं। इस अवसर पर कुमारी शैलजा, कुलदीप शर्मा, सुमिता सिंह, त्रिलोचन सिंह, शमशेर सिंह गोगी,इन्द्रजीत सिंह गोराया, इत्यादि अनेक वरिष्ठ कांग्रेसी नेता व कार्यकर्ता सडक़ों पर उतरें।

Latest news
Related news