किसानों की राह पर चले हड़ताली कर्मचारी

सरकार को दो टूक, मांगें न मानी तो जाम करेंगे जालंधर-दिल्ली राष्टÑीय राजमार्ग
इंडिया न्यूज, चंडीगढ़:
लंबे समय से मांगों को लेकर प्रदर्शन कर रहे रोडवेज के कच्चे कर्मचारियों ने अब सख्त रुख अपनाने का फैसला कर लिया है। सोमवार से पंजाब रोडवेज, पनबस और पीआरटीसी के कच्चे कर्मचारी अपनी मांगों को लेकर अनिश्चितकालीन हड़ताल पर गए हुए हैं। जिसके चलते यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। किसानों की तर्ज पर बुधवार शाम से जालंधर-दिल्ली नेशनल हाईवे जाम करने की चेतावनी दी है। बुधवार सुबह प्रदेश में इन कर्मचारियों ने प्रदर्शन किया और फिर यूनियन अधिकारियों के सदस्यों ने जालंधर बस स्टैंड से रोष रैली निकाली। कर्मचारियों ने चेतावनी देते हुए कहा कि चंडीगढ़ मीटिंग का कोई हल नहीं निकला तो नेशनल हाईवे जाम करेंगे। जिसकी जिम्मेदारी पंजाब सरकार की होगी।
आश्वासन के बाद स्थगित किया था सीएम का घेराव
मंगलवार को यूनियन ने प्रिंसिपल सेक्रेटरी से बैठक के आश्वासन के बाद मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर के सिसवां फार्म का घेराव स्थगित कर दिया था। आज शाम तीन बजे चंडीगढ़ में यह बैठक होगी। ज्ञात रहे कि कर्मचारियों की हड़ताल के कारण पंजाब में करीब 2000 सरकारी बसों का परिचालन बंद है। जिसके चलते यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

SHARE
Latest news
Related news