विशेष कमेटी ने स्पीकर को सौंपी रिपोर्ट

दिल्ली में किसानों पर हुए अत्याचार पर तथ्य एकत्रित किए
लुधियाना, मोगा, बठिंडा, संगरूर, मानसा, नवां शहर, जालंधर और अमृतसर जिलों का किया दौरा
इंडिया न्यूज, चंडीगढ़ :
26 जनवरी, 2021 को दिल्ली में घटे घटनाक्रम के बाद पंजाब के किसानों, नौजवानों और अन्य लोगों पर दिल्ली पुलिस द्वारा किए गए अत्याचार संबंधी विधान सभा की विशेष कमेटी द्वारा जांच रिपोर्ट स्पीकर राणा केपी सिंह को सौंप दी गई है। विधान सभा के एक प्रवक्ता ने बताया कि 5 मार्च, 2021 को सदन ने यह मांग रखी थी कि नई दिल्ली में किसान आंदोलन के दौरान पंजाबियों पर किए अत्याचार की जांच के लिए एक विशेष कमेटी का गठन किया जाना चाहिए और कमेटी बनाने के अधिकार स्पीकर को सौंप दिए गए थे। स्पीकर राणा केपी सिंह ने 30 मार्च, 2021 को एक पांच सदस्यीय कमेटी बनाई थी, जिसके सभापति विधायक कुलदीप सिंह वैद को बनाया गया था। बाकी सदस्यों में विधायक कुलबीर सिंह जीरा, फतेहजंग सिंह बाजवा, सरवजीत कौर माणूके और हरिंदरपाल सिंह चंदूमाजरा को शामिल किया गया था।

पीड़ितों के बयान किए दर्ज

इस कमेटी ने लुधियाना, मोगा, बठिंडा, संगरूर, मानसा, नवां शहर, जालंधर और अमृतसर जिलों का दौरा करके पीड़ित किसानों, नौजवानों और उनके पारिवारिक सदस्यों के साथ मुलाकातें की। इस दौरान पीड़ित लोगों ने जो बयान कमेटी के समक्ष दर्ज करवाए उसे रिपोर्ट में शामिल किया गया है, जिससे इसकी जानकारी विधान सभा के द्वारा सरकार के पास पहुंचाई जा सके। मंगलवार को कमेटी के सभापति कुलदीप सिंह वैद और सदस्यों कुलबीर सिंह जीरा और हरिंदरपाल सिंह चंदूमाजरा ने किसान आंदोलन के दौरान विभिन्न स्थानों पर सोशल एक्टिविस्ट्स और अन्य लोगों पर हुए अत्याचार की घटनाओं की छानबीन करने के लिए गठित सदन की कमेटी की रिपोर्ट शीर्षक अधीन यह रिपोर्ट स्पीकर को सौंप दी गई है। स्पीकर राणा केपी सिंह ने कहा कि वह इस रिपोर्ट को सरकार तक पहुंचा देंगे, जिससे पीड़ितों को बनता इंसाफ और सहायता मुहैया करवाई जा सके।

Latest news
Related news