सिमरनजीत सिंह मान ने बताई संत जरनैल सिंह भिंडरावाले की तालीम की जीत, कहा-अब सिख कौम के साथ मुसलमानों जैसा बरताव नहीं होगा

इंडिया न्यूज, Punjab News। शिरोमणि अकाली दल के सिमरनजीत सिंह मान ने पंजाब में संगरूर लोकसभा सीट के लिए अपने प्रतिद्वंद्वी आम आदमी पार्टी के उम्मीदवार सरपंच गुरमेल सिंह को हराकर उपचुनाव को जीत लिया है। मान को 2,52,898 और गुरमेल सिंह को 2,46,828 वोट पड़े। गुरमेल सिंह को 5822 वोटों से हार का सामना करना पड़ा।

चुनाव आयोग की ओर से जीत का औपचारिक ऐलान होने के बाद सिमरनजीत सिंह मान ने कहा कि यह उनकी पार्टी कार्यकतार्ओं और संत जरनैल सिंह भिंडरावाले की तालीम की जीत है।

लंबे समय से खालिस्तान मूवमेंट के समर्थक रहे हैं मान

1984 में चलाए गए आपरेशन ब्लू स्टार में अमृतसर स्थित गोल्डन टैंपल पर हमले और प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की हत्या के बाद भड़के दंगों के बाद भारतीय पुलिस सेवा की नौकरी छोड़ देने वाले सिमरनजीत सिंह मान खालिस्तान मूवमेंट के समर्थक रहे हैं।

दीप सिद्धू और सिद्धू मूसेवाला की शहादत का सिख कौम को हुआ फायदा

सिमरनजीत सिंह मान ने जीत के बाद कहा कि दीप सिद्धू और सिद्धू मूसेवाला की शहादत का पूरी दुनिया में रह रही सिख कौम को फायदा हुआ है। अब भारतीय हुकूमत सिख कौम के साथ वैसा कुछ नहीं कर पाएगी जैसा वह मुसलमानों के साथ कर रही है।

भारतीय फौज पर कश्मीरियों को मारने का लगाया आरोप

बता दें कि अपनी जीत के बाद संगरूर के नवनिर्वाचित सांसद सिमरनजीत सिंह मान ने आरोप लगाया कि भारतीय हुकूमत मुसलमानों की मस्जिदें ढहा रही है, कश्मीर में जुल्म कर रही है।

भारतीय फौज कश्मीरियों को मार देती है और उसकी कोई इंक्वायरी तक नहीं होती। झारखंड और छत्तीसगढ़ में रहने वाले आदिवासियों को माओवादी व नक्सली बताकर भारतीय हुकूमत सीधे गोली मार देती है।

एनडीए उम्मीदवार द्रोपदी मुर्मू से मिलने की कही बात

मान ने कहा कि वह भारत के अगले राष्ट्रपति के लिए एनडीए उम्मीदवार द्रोपदी मुर्मू, जो आदिवासी समुदाय से आती हैं, से मिलेंगे और मांग करेंगे कि नक्सलियों के साथ भारत सरकार की बातचीत शुरू करवाई जाए। आदिवासियों की सारी दुख-तकलीफ खत्म होनी चाहिए।

Connect With Us : Twitter | Facebook Youtube
Latest news
Related news