पंजाबी गायक सिद्धू मूसेवाला को पंजाब विधानसभा में दी श्रद्धांजलि, कांग्रेस ने उठाई संदीप नंगल व आत्महत्या करने वाले किसानों को श्रद्धांजलि की मांग

रोहित रोहिला, चंडीगढ:
पंजाब विधानसभा में बजट सत्र के पहले दिन जनप्रतिनिधियों एवं स्वतंत्रता सेनानियों के अलावा पंजाबी गायक सिद्धू मूसेवाला को श्रद्धांजलि भेंट की गई। विपक्षी दल कांग्रेस कब्बडी खिलाड़ी एवं आत्महत्या करने वाले किसानों को भी इसमें शामिल करवाना चाहता था लेकिन सदन में उनकी मांग को खारिज कर दिया है। पंजाब विधानसभा में बजट सत्र के पहले दिन स्पीकर कुलतार सिंह संधवा ने सदन की तरफ से शोक प्रस्ताव पेश करते हुए पूर्व मंत्री हरदीपइंदर बादल, पूर्व मंत्री तोता सिंह, पूर्व विधायक सुखदेव सुखलद्धी, शिंगारा राम सहुंगड़ा, स्वतंत्रता सेनानी तारा सिंह, स्वर्ण सिंह, करोड़ा सिंह, सुखराज सिंह, पर्वतारोही गुरचरन भंगू तथा एथलीट हरी चंद को उनके क्षेत्र में दिए गए योगदान के बदले याद करते हुए श्रद्धांजलि भेंट की गई। इसके बाद स्पीकर ने पंजाबी गायक एवं गीतकर शुभदीप सिंह सिद्धू उर्फ सिद्धू मूसेवाला द्वारा संगीत के क्षेत्र में दिए गए योगदान को याद करते हुए सदन की तरफ से श्रद्धांजलि भेंट की गई।

चब्बेवाल ने कब्बडी खिलाड़ी को भी श्रद्धाजंली देने की मांग की

इस बीच पंजाब विधानसभा में विपक्ष के उपनेता राजकुमार चब्बेवाल ने कहा कि “जिस तरह से सिद्धू मूसेवाला की हत्या की गई उसकी तरह पंजाब में बिगड़ी हुई कानून-व्यवस्था के कारण कब्बडी के अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी संदीप नंगल अंबियां की हत्या हुई है। पंजाब में पिछले तीन माह के दौरान सिस्टम की मार झेल रहे कई किसानों ने भी आत्महत्या की है। चब्बेवाल की मांग थी कि विधानसभा में मूसेवाला की तर्ज पर नंगल अंबियां व आत्महत्या करने वाले किसानों को भी श्रद्धांजलि दी जाए लेकिन सत्ता पक्ष एवं अन्य विपक्षियों की तरफ से इस मांग पर कोई प्रतिक्रमा नहीं दिया गया। जिसके चलते स्पीकर द्वारा सदन में पेश किए गए शोक प्रस्तावों पर सभी ने सहमति जताई और पहले दिन की पहली बैठक को स्थगित कर दिया गया।

पंजाब विधानसभा में जब सीएम ने दिखाई विनम्रता

पंजाब विधानसभा में बजट सत्र के पहले दिन मुख्यमंत्री भगवंत मान अपने मंत्रियों से पहले विधानसभा में पहुंचे। सदन की कार्यवाही अभी शुरू नहीं हुई थी कि विपक्षी राजनीतिक दल कांग्रेस, भाजपा व अकाली दल के विधायक भी सदन के भीतर पहुंच गए। इस बीच मुख्यमंत्री भगवंत मान ने जब देखा कि कांग्रेस के नेता सदन में दाखिल हो रहे हैं तो वह बड़ी विनम्रता के साथ अपनी कुर्सी से उठे और नेता प्रतिपक्ष प्रताप सिंह बाजवा की कुर्सी के पास पहुंचे और उन्हें झुककर प्रणाम किया। इसके बाद मान पूर्व उपमुख्यमंत्री एवं गृहमंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा के साथ भी मिले। इसके बाद भगवंत मान परगट सिंह, अमरिंदर सिंह राजा वड़िंग के अलावा अकाली दल व भाजपा के वरिष्ठ विधायकों से मुलाकात करने उनके टेबल तक पहुंचे।

ये भी पढ़ें : पिंदा गैंग के बकाया सदस्यों को पुलिस ने किया काबू, गिरफ्तार किए 19 सदस्यों में से 13 शूटर
हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे !
Connect With Us : Twitter | Facebook Youtube
Latest news
Related news