एमचैम इंडिया के साथ समझौता करने वाला पंजाब देश का पहला राज्य

पंजाब ने अमेरिकन चेंबर आफ कॉमर्स के साथ एमओयू साइन किया
यूएस की कंपनियों को कारोबार के लिए मुहैया कराएगा साजगार माहौल
इंडिया न्यूज, चंडीगढ़:
पंजाब और अमेरिकन चेंबर आॅफ कॉमर्स इन इंडिया (एमचैम इंडिया) के बीच शनिवार को एमचैम इंडिया की 29वीं एजीएम के दौरान एक एमओयू (सहमति पत्र) साइन किया गया, जो अमरिकी कंपनियों को राज्य में निवेश और व्यापार के लिए प्रोत्साहित करने के साथ-साथ साजगार माहौल मुहैया करवाएगा। इस सहमति पत्र पर इनवेस्ट पंजाब के सीईओ रजत अग्रवाल और एमचैम इंडिया के प्रोग्राम डायरेक्टर राजीव आनंद द्वारा प्रमुख सचिव इनवेस्टमेंट प्रमोशन हुसन लाल की मौजूदगी में हस्ताक्षर किए गए। एमचैम इंडिया द्वारा भारत के किसी राज्य के साथ पहला समझौता किया गया है। इसमें एक साझे कार्य समूह (जेडब्ल्यूजी) का गठन शामिल है, जिसमें इनवेस्ट पंजाब और एमचैम इंडिया मेंबर हैं, जो निवेश में तालमेल बढ़ाने के लिए काम करेंगे, जिससे पंजाब, भारत और अमरीका में सुखद ढंग से कारोबार करने के लिए उपयुक्त माहौल भी मिलेगा। निवेश के अवसरों संबंधी जानकारी देते हुए रजत अग्रवाल ने कहा कि पंजाब ने भारत में व्यापार शुरू करने की इच्छुक कई प्रसिद्ध बहु-राष्ट्रीय कंपनियों के लिए एक लॉन्चपैड के तौर पर काम किया है। अग्रवाल ने कृषि और फूड प्रासेसिंग, टेक्निकल इंजनियरिंग, टेक्स्टाइल और फार्मा जैसे कई क्षेत्रों में पंजाब आधारित कंपनियों के साथ निवेश या साझे व्यापार के अवसरों संबंधी जानकारी दी। अग्रवाल ने कहा कि निवेशकों के लिए उचित माहौल के स्वरूप पंजाब सरकार 12 बिलियन डॉलर से अधिक निवेश लागू करने के विभिन्न पड़ावों पर है। यह निवेश के संबंध में बड़ी कामयाबी है। इस समागम में मौजूद, पैप्सिको, गूगल, जोहन डियर, बाउस एंड लौंब और अमरीका की अन्य प्रसिद्ध कंपनियों के प्रमुख प्रबंधकों ने राज्य के बेमिसाल विकास और सभी के सम्मिलित विकास में भरोसा प्रकट किया। राज्य में उद्योग समर्थकीय माहौल को उजागर करते हुए, प्रमुख उद्योगपतियों ने कहा कि व्यापार में आसानी के लिए पंजाब एक रौशनी के स्तंभ के तौर पर आगे आना चाहता है।

Latest news
Related news