सरकारी स्कूलों के लिए 16.33 करोड़ की किताबें खरीदेगी पंजाब सरकार

इंडिया न्यूज, चंडीगढ़:
पंजाब के स्कूल शिक्षा मंत्री विजय इंदर सिंगला के निर्देश पर स्कूल शिक्षा विभाग ने अकादमिक सेशन 2021-22 के दौरान किताबें खरीदने के लिए 16.33 करोड़ से अधिक की ग्रांट जारी कर दी है। इसका उद्देश्य स्कूल लाईब्रेरी का स्तर ऊंचा उठाना और विद्यार्थियों को पढ़ने के लिए बढ़िया किताबें मुहैया कराना है। इसकी जानकारी देते हुए स्कूल शिक्षा विभाग के एक प्रवक्ता ने बताया कि राज्य के समूचे 19,145 स्कूलों को किताबें खरीदने के लिए 16 करोड़ 33 लाख और 80 हजार रुपए की कुल राशि दी गई है। प्रवक्ता के अनसार इस समय राज्य में 12830 प्राइमरी, 2655 अपर प्राइमरी, 1697 सेकेंडरी और 1963 सीनियर सेकेंडरी स्कूल हैं और इनको क्रमवार 641.5 लाख, 345.15 लाख, 254.55 लाख और 392.6 लाख रुपए जारी किए गए हैं।
प्रवक्ता के अनुसार लाइब्रेरी के लिए पुस्तकें खरीदने के लिए स्कूल स्तर पर कमेटियां बनाने और माहिर कमेटी की तरफ से सिफारिश की किताबें ही खरीदने के लिए पहले ही निर्देश जारी किए जा चुके हैं। विभाग की तरफ से पंजाब के इतिहास, संस्कृति, भुगोल, समाज, लोक साहित्य या बोलियों पर आधारित और ज्यादा पुस्तकें खरीदने के लिए कहा गया है। प्राइमरी स्कूलों के विद्यार्थियों में पढ़ने की आदत पैदा करने और उनको इस तरफ आकर्षित करने के लिए रंगदार और सचित्र पुस्तकों की खरीद करने पर जोर दिया गया है। सरकारी पब्लिशर के द्वारा प्रकाशित पुस्तकें खरीदते समय उनकी नीति अनुसार डिस्काउंट लेने, नेशनल बुक ट्रस्ट से खरीदी जाने वाली पुस्तकों पर 25 प्रतिशत और प्राइवेट पब्लिशरों से खरीदी जाने वाली पुस्तकों पर कम से कम 40 प्रतिशत डिस्काउंट लेने के लिए भी निर्देश दिए गए हैं।

Latest news
Related news