पंजाब के गन्ना किसानों के लिए अच्छी खबर

गन्ने के बकाया राशि की अदायगी के लिए 45 करोड़ रुपए जारी
किसानों को 472.10 करोड़ में से 463.95 करोड़ की अदायगी की : रंधावा
इंडिया न्यूज, चंडीगढ़:
सहकारी चीनी मिलों द्वारा गन्ना काश्तकारों की बकाया राशि की अदायगी के लिए 45 करोड़ रुपए की राशि गन्ना काश्तकारों को मंगलवार को जारी कर दी गई, जिससे साल 2020-21 की बनती कुल अदायगी 472.10 करोड़ रुपए में से 463.95 करोड़ रुपए की अदायगी कर दी गई है। बाकी रहते 8.15 करोड़ रुपए की अदायगी केंद्र सरकार की तरफ बकाया है। यह जानकारी सहकारिता मंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा ने मंगलवार को यहां दी। सहकारिता मंत्री ने बताया कि मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह की हिदायतों पर गन्ना काश्तकारों को सितंबर के पहले सप्ताह में बकाया भुगतान का किया वादा पंजाब सरकार ने पूरा कर दिया है। उन्होंने बताया कि बकाया राशि की मुकम्मल अदायगी के लिए सरकार द्वारा साल 2021-22 के बजट में 300 करोड़ रुपए का प्रावधान किया गया था।

गन्ने के दाम रिकॉर्ड स्तर तक बढ़ाए

रंधावा ने कहा कि पंजाब सरकार ने गन्ना काश्तकारों को बड़ा तोहफा देते हुए गन्ने के भाव में रिकॉर्ड विस्तार करते हुए 360 रुपए प्रति क्विंटल घोषित किया गया है जबकि केंद्र सरकार द्वारा गन्ने के प्रति क्विंटल रेट में सिर्फ 5 रुपए का विस्तार किया गया है। इसके साथ ही गन्ना काश्तकारों की सहकारी चीनी मिलों की तरफ बनती कुल अदायगी भी पहल के आधार पर की गई है। रंधावा ने बताया गया कि राज्य की 9 सहकारी चीनी मिलों द्वारा साल 2019-20 की बनती कुल अदायगी 486.24 करोड़ रुपए पहले ही गन्ना काश्तकारों को दी जा चुकी है और साल 2020-21 की बनती कुल अदायगी 472.10 करोड़ रुपए में से 463.95 करोड़ रुपए की अदायगी कर दी गई है। बकाया रहती 8.15 करोड़ रुपए की अदायगी केंद्र सरकार द्वारा सहकारी चीनी मिलों की साल 2019 -20 की एक्सपोर्ट सब्सिडी और बफर स्टाक सब्सिडी के तौर पर जारी की जानी है। इसकी जल्द अदायगी के लिए भारत सरकार के साथ संपर्क किया जा रहा है, जिससे गन्ने की कुल बकाया अदायगी जल्द से जल्द की जा सके। रंधावा ने बताया कि सहकारी चीनी मिलों के द्वारा भारत सरकार की तरफ से जारी की जाती शुगर एक्सपोर्ट सब्सिडी और बफर स्टाक सब्सिडी की राशि भारत सरकार की हिदायतों के अनुसार गन्ने की अदायगी के लिए सीधे तौर पर गन्ने काश्तकारों के खाते में ट्रांसफर की जाती है। बकाया रहती 8.15 करोड़ रुपए की राशि भी जारी होने के उपरांत तुरंत गन्ना काश्तकारों के खातों में ट्रांसफर कर दी जाएगी।

Latest news
Related news