पंजाब में पहली बार जनता का बजट जनता के लिए पेश करेंगे, जनता बजट पर 20 हजार से अधिक सुझाव मिले

  • उद्योगपतियों की तरफ से 500 से अधिक मैमोरंडम दिए गए
  • तकरीबन दो तिहाई सुझाव नौजवानों से और 5 में से एक सुझाव महिलाओं से मिले

इंडिया न्यूज, चंडीगढ़। पंजाब के वित्त और योजना मंत्री हरपाल सिंह चीमा (Finance and Planning Minister Harpal Singh Cheema) ने कहा कि राज्य के इतिहास में पहली बार पंजाब विधानसभा (Punjab Assembly) में पेश किया जाने वाला पंजाब का बजट लोगों के सुझावों और मश्वरों के आधार पर तैयार किया जाएगा। चीमा ने कहा कि मुख्यमंत्री भगवंत मान के निदेर्शों पर बजट तैयार करने के लिए जनता की सलाह लेने का फैसला किया गया था। उन्होंने कहा कि लोगों ने बहुत खुल कर सुझाव दिए हैं।

हर क्षेत्र के लोगों के सुझावों पर किया जाएगा अमल

वित्त मंत्री ने कहा कि पंजाब का बजट पेश करते समय प्रत्येक लोगों, उद्योगपतियों, व्यापारिक संगठनों, नौजवानों, महिलाओं और बाकी हर क्षेत्र के नुमायंदों की तरफ से पेश किए सुझाव और मश्वरों पर गौर किया जाएगा। वित्त मंत्री ने कहा कि पोर्टल और ई-मेलें पर मिले 20 हजार से अधिक सुझावों में से दो तिहाई सुझाव नौजवानों से मिले हैं।

500 से अधिक लिखित मैमोरंडम मिले

वित्त मंत्री ने कहा कि उद्योगपतियों से 500 से अधिक लिखित मैमोरंडम भी मिले। जिन्होंने व्यापार समर्थकीय माहौल, अत्याधुनिक बुनियादी ढांचा, इंस्पेक्टर राज के खात्मे, नियमों के सरलीकरण के साथ कारोबार करने में आसानी और गैर कानूनी अभ्यासों को रोकने के लिए बेहतर लागूकरण की मांग की है। हर 5 में से एक सुझाव महिलाओं की तरफ से प्राप्त हुआ है। उन्होंने लड़कियों के लिए समान मौके और बेहतर स्वास्थ्य और शिक्षा सहूलतों की मांग की है।

14 हजार से अधिक सुझाव पोर्टल पर आए

वित्त मंत्री ने बताया कि कुल 20 हजार 384 सुझावों में से जनता पोर्टल पर 14 हजार 859 सुझाव आए हैं जबकि ई-मेलों पर 5024 और 500 पत्र और मैमोरंडम दस्ती प्राप्त हुए हैं।

उन्होंने कहा कि 72.70 फीसद सुझाव पुरूष वर्ग से प्राप्त हुए हैं जिनमें सबसे अधिक 31 से 40 उम्र वर्ग से प्राप्त हुए हैं। इसी तरह महिलाओं की तरफ से 19.89 फीसद सुझाव दिए गए हैं जिनमें से सबसे अधिक 31 से 40 उम्र समूह की तरफ से सुझाव प्राप्त हुए हैं।

दूसरे राज्यों से भी विभाग को मिले सुझाव

चीमा ने कहा कि जनता बजट पोर्टल पर प्राप्त हुए सुझावों, जिन पर भविष्य में विचार किया जा सकता है, में पुरानी पेंशन स्कीम को बहाल करना, मौजूदा 3 सालों से प्रोबेशन पीरियड के समय को घटाना, समान काम-समान वेतन, बिजली और परिवहन सब्सिडियां, शिक्षा में परिवार की अकेली लड़की के लिए लाभ, सहित अन्य सुझाव दिए गए।

उन्होंने सप्ताह भर के दौरे के दौरान सभी 23 जिलों को कवर किया है और सबसे अधिक सुझाव लुधियाना, पटियाला, फाजिल्का, बठिंडा और अमृतसर से मिले है। खास तौर पर पड़ोसी राज्यों हरियाणा, दिल्ली और राजस्थान में बसते पंजाबियों से भी बड़ी संख्या में सुझाव मिले हैं।

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे !

यह भी पढ़ें: सीएम भगवंत मान ने कहा-नशे की सप्लाई चेन को तोड़ने के लिए अब बड़ी मछलियों पर रहेगी नजर

यह भी पढ़ें: 15 राज्यों की 57 सीटों के लिए 10 जून को होंगे राज्यसभा चुनाव, जानें नतीजों की तारीख?

यह भी पढ़ें: नर्सिंग सिस्टर अब होंगी नर्सिंग अफसर, पंजाब सरकार ने लिया ये फैसला…

Connect With Us : Twitter | Facebook Youtube

Latest news
Related news