उत्साह से मनाया श्री गुरु ग्रंथ साहिब जी का प्रकाश पर्व

श्रद्धालुओं का उमड़ा सैलाब, फूलों की विशेष सजावट ने मोहा सभी का मन
इंडिया न्यूज, अमृतसर:
श्री गुरु ग्रंथ साहिब जी के प्रकाश पर्व पर मंगलवार को दरबार साहिब में विशेष कार्यक्रम का आयोजन किया गया। प्रभात समय से ही रागी जत्थों ने जहां इलाही बाणी का कीर्तन कर संगत को निहाल किया वहीं दिनभर चले धार्मिक समागमों ने शहर की फिजाओं को भक्तिमय बनाए रखा। ज्ञात रहे कि सिख धर्म के 5वें गुरु श्री गुरु अर्जुन देव जी ने 1604 में आज ही के दिन दरबार साहिब में श्री गुरु ग्रंथ साहिब का प्रकाश किया था। तब से लेकर आज तक हर साल आज ही के दिन श्री गुरु ग्रंथ साहिब जी का प्रकाश पर्व मनाया जाता है। धार्मिक समागमों की कड़ी को जारी रखते हुए शहर में नगर कीर्तन का आयोजन किया गया। जिसमें हजारों लोगों ने पालकी साहिब की व पंज प्यारों की अगुवाई में गुरुबाणी का गायन करते हुए भाग लिया। नगर कीर्तन का स्वागत शहर के कई स्थानों पर भवय तरीके से किया गया। श्री हरमंदिर साहिब के मुख्य ग्रंथी ज्ञानी जगतार सिंह समेत अलग-अलग सिंह साहेब और ग्रंथी सिंह नगर कीर्तन में शामिल हुए।

दरबार साहिब में की गई फूलों की विशेष सजावट

श्री गुरु ग्रंथ साहिब जीके प्रकाशपर्व के अवसर पर दरबार साहिब को फूलों से विशेष सजाया गया। सजावट में सैकड़ों किस्म के फूलों का प्रयोग किया गया। ज्ञात हो की पिछले पांच साल से श्री दरबार साहिब में यह सेवा मुम्बई के उद्योगपति निभा रहे हैं। जानकारी के अनुसार इस साल 110 टन फूलों की सेवा की गई है और दरबार साहिब को सजाया गया है। जानकारी के अनुसार 115 किस्म के यह फूल 8 ट्रकों में भरकर लाए गए। इसके बाद पूरी मर्यादा के साथ 300 कारीगरों ने मिलकर इन फूलों से दरबार साहिब को सजाया है।

 

Latest news
Related news