हरीश रावत से नहीं मिले सिद्धू खेमे के नाराज मंत्री

इंडिया न्यूज,चंडीगढ़ :

पंजाब कांग्रेस में चल रहा घमासान अभी थमता नजर नहीं आ रहा है। तीन दिवसीय चंडीगढ़ प्रवास के दौरान पंजाब के कांग्रेस प्रभारी हरीश रावत से पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू खेमे के मंत्रियों ने दूरी बनाए रखी। नाराज मंत्री सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह को पद से हटाने पर अड़े हैं। हालांकि हरीश रावत ने इस पर कहा है कि अच्छा ही हुआ कि नाराज मंत्री उनसे नहीं मिले। उन्होंने कहा, अगर वे मेरे से मिलते तो दोबारा बखेड़ा खड़ा हो जाता। पंजाब प्रभारी ने मेरे लिए वह नाराज मंत्री नहीं सिर्फ मंत्री ही हैं। रावत ने कहा कि वैसे अच्छा ही हुआ कि वह मुझसे नहीं मिले, नहीं तो मेरी दो दिनों की मेहनत पर पानी फिर जाता। मुझसे मुलाकात न करके उन्होंने समझदारी दिखाई है। हालांकि उन्होंने कहा कि इन दो दिन में कुछ लोगों ने मुझसे मुलाकात कर भविष्य की संभावनाओं पर चर्चा की है। नवजोत सिंह सिद्धू खेमे के नाराज मंत्रियों में प्रमुख रूप से तृप्त बाजवा, सुखजिंदर सिंह रंधावा, सुखविंदर सरकारिया शामिल हैं। ये तीनों मंत्री खुलकर रावत के समक्ष पंजाब में नेतृत्व परिवर्तन की मांग कर चुके हैं, हालांकि रावत ने उनकी इस मांग को सिरे से खारिज कर दिया है। बता दें कि गुरुवार को भी पंजाब प्रभारी हरीश रावत की बैठकों का दौर जारी रहा। पंजाब भवन में हरीश रावत से कैबिनेट मंत्री अरूणा चौधरी, कार्यकारी प्रधान कुलजीत नागरा, विधायक अमरिंदर सिंह राजा वड़िंग व अन्य नेताओं ने मुलाकात की। इस दौरान संगठन विस्तार को लेकर रावत ने सभी से चर्चा की।

Latest news
Related news