गलत आंकड़े पेश कर रहे आप नेता : सीएम

कैप्टन अमरिंदर सिंह ने नेता प्रतिपक्ष हरपाल सिंह चीमा के प्रदेश के अमन-कानून व्यवस्था पर उठाए सवालों को नकारा
इंडिया न्यूज, चंडीगढ़:
पंजाब विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष हरपाल सिंह चीमा द्वारा राज्य की अमन-कानून की व्यवस्था संबंधी बयानबाजी किए जाने पर उन्हें आड़े हाथों लेते हुए सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने आम आदमी पार्टी की सख्त निंदा की। उन्होंने कहा कि आप की साल 2022 के चुनाव मैदान को जीतने के लिए यह बौखलाहट भरी कोशिश की है जबकि वह इससे पहले ही हाथों में से रेत की तरह खिसकती जा रही अपनी राजनीतिक जमीन को देख सकते हैं। हरपाल सिंह चीमा द्वारा राज्य में अपराध के बढ़ रहे मामलों के बारे लगाए गए आरोपों के जवाब में सीएम ने विरोधी पक्ष के नेता पर हैरानी जाहिर करते हुए कहा कि उनके द्वारा कुछ निराधार मीडिया रिपोर्टों के आधार पर गलत सूचना फैलाई जा रही है। कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि इधर-उधर से गैर-प्रमाणित आंकड़े इकट्ठा करने की बजाय चीमा तथ्य हासिल करने के लिए डीजीपी तक पहुंच कर सकते थे, जो कि उनके प्रेस नोट में जारी किए गए आंकड़ों से बिलकुल अलग हैं। सीएम ने कहा कि चीमा के दावों से विपरीत मार्च, 2017 से उनकी सरकार आने से लेकर राज्य में फिरौती के लिए अपहरण से जुड़े सिर्फ 38 मामले रिपोर्ट हुए। यहां तक कि साल 2017 से फिरौती के लिए अपहरण के दर्ज केवल 38 मामलों (0.5 प्रतिशत) को सुलझा लिया और हर केस में आरोपियों को गिरफ्तार किया गया। उन्होंने कहा कि गंभीर मामलों में आपराधिक मुकदमों की तेजी से निगरानी करने के चलते कई मामलों में तो सजाएं भी हो गई हैं। सीएम ने कहा कि यह मामले चीमा की तरफ से बताई 7138 वारदातों से कोसों दूर हैं और चीमा स्पष्ट रूप से तौर पर फिरौती के लिए अपहरण करने के मामलों व अपहरण के अन्य मामलों के बीच का फर्क नहीं कर सकते।

Latest news
Related news