रावण-शकुनी भी बोला जाता है, इनका तो मुद्दा नहीं बनता : कर्नाटक के शिक्षा मंत्री ने मुस्लिम स्टूडेंट को आतंकी कहने वाले टीचर का किया बचाव

इंडिया न्यूज़ (दिल्ली) : कर्नाटक में बीते दिनों एक टीचर ने मुस्लिम स्टूडेंट को टेररिस्ट कहा था, जिसके बाद सोमवार को टीचर को सस्पेंड कर दिया गया। इस मामले में राज्य की BJP सरकार के शिक्षा मंत्री बीसी नागेश ने कहा है कि किसी को टेररिस्ट कहना बड़ी बात नहीं है।

उन्होंने कहा कि लगभग सभी लोग रोजाना रावण और शकुनी जैसे शब्द बोलते हैं। कितनी बार विधानसभा में नेता ऐसे बात करते हैं, लेकिन उसका मुद्दा नहीं बनाया जाता है। कोई कसाब की बात करे तो मुद्दा क्यों बनता है?

टीचर ने स्टूडेंट की तुलना कसाब से की थी

जानकरी दें, कर्नाटक के उडुपी में मनिपाल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी में शुक्रवार को टीचर ने मुस्लिम स्टूडेंट से उसका नाम पूछा था। जब छात्र ने नाम बताया तो टीचर ने कहा- ओह! तुम कसाब जैसे हो। स्टूडेंट ने टीचर के इस कमेंट पर पलटवार किया, जो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ। इस दौरान बाकी स्टूडेंट चुपचाप बैठे दिखाए दिए।

स्टूडेंट ने टीचर पर पलटवार किया था

जानकरी दें, स्टूडेंट ने टीचर के कमेंट पर कहा, ‘26/11 कोई मजाक उड़ाने की बात नहीं है। इस देश में मुस्लिम होना और रोजाना ऐसी बातों को सुनना मजाक नहीं है। आप मेरे धर्म के बारे में मजाक नहीं कर सकते, वो भी ऐसे नीचा दिखाने के तरीके से। ये कोई मजाक नहीं है।

टीचर ने मामले को सुलझाने की कोशिश की थी

जब स्टूडेंट गुस्से में आ गया, तो टीचर ने मामला संभालते हुए उससे कहा, ‘तुम मेरे बेटे जैसे हो।’ इस पर स्टूडेंट ने पूछा कि क्या आप अपने बेटे से ऐसे बात करेंगे? क्या आप उसे भी ऐसे टेररिस्ट के नाम से बुलाएंगे?

इस पर टीचर ने न कहा। तो स्टूडेंट ने आगे कहा ‘अगर आप अपने बेटे को टेररिस्ट नहीं बोल सकते, तो मुझे कैसे बोल सकते हैं? वो भी इतने लोगों के सामने? आप प्रोफेशनल हैं, टीचर हैं’। टीचर के सॉरी कहने पर स्टूडेंट ने कहा- आपके सॉरी से न तो आपकी सोच बदलेगी और न ही यहां आपका तौर-तरीका बदलेगा।

Latest news
Related news