नीतीश राज में अनामिका के कविता पर रोक, कार्यक्रम से बेरंग लौटी कवयित्री ने खुद को ‘सरकारी’ नहीं ‘असरकारी कवि’ बताया

इंडिया न्यूज़ (दिल्ली) : ‘यूपी में बाबा’ गाकर नेहा सिंह राठौड़ को जवाब देने वाली देश की मशहूर कवियित्री अनामिका जैन अंबर को बिहार में कविता पाठ से रोक दिया गया। अधिकारियों ने कहा कि इसके लिए उन्हें ‘ऊपर’ से बहुत प्रेशर है। अनामिका ने कविता पाठ रोके जाने पर राज्य की नीतीश कुमार की सरकार पर गंभीर आरोप लगाए हैं।

जानकारी दें, एशिया का सबसे बड़ा पशु मेला कहा जाने वाला बिहार का सोनपुर स्थित हरिहर क्षेत्र का मेला आजकल सजा हुआ है। इस मेले में अनामिका काव्य पाठ के लिए आमंत्रित किया गया था। जब अनामिका वहाँ पहुँची तो उन्हें पटना में ही रोक लिया गया और इसमें भाग नहीं लेने दिया गया। उधर, इससे नाराज कवियों ने काव्य सम्मेलन का बहिष्कार कर दिया।

अनामिका ने राज्य सरकार पर गंभीर आरोप लगाए

जानकारी दें, कार्यक्रम में जाने से रोके जाने पर अनामिका ने फेसबुक लाइव के जरिए बिहार की JDU-RJD गठबंधन वाली नीतीश कुमार की सरकार पर आरोप लगाया है। उन्होंने कहा है कि उन्हें राज्य सरकार के दबाव सोनपुर मेले के कवि सम्मेलन में हिस्सा नहीं लेने दिया गया। उन्होंने कहा कि उनकी काव्य पाठ से बिहार की सरकार डरी हुई है। इसलिए उन्हें हिस्सा नहीं लेने दिया गया।

अनामिका ने कहा, “जिस तरह की कविताएँ मैंने हाल में लिखी और गाई है, खासकर योगी आदित्यनाथ के बारे में लिखा काफी प्रसिद्ध हुआ था, उससे उन्हें बिहार सरकार के इशारे पर सोनपुर में मंच पर नहीं आने दिया गया। इसके विरोध में दूसरे कवियों ने कवि सम्मेलन का बहिष्कार कर दिया।”

‘यूपी में बाबा’ गाने को बताया रोक की वजह

अनामिका ने आगे कहा कि राष्ट्र की बात करना, देश की बात करना, सच्चाई की बात करना किसी सरकार के लिए इतना दूभर हो सकता है, उन्हें पता नहीं था। उन्हें कहा कि उन्हें कवि सम्मेलन में भाग नहीं लेने दिया गया, इसका उन्हें बहुत दुख है। अनामिका ने कहा कि उन्हें ‘यूपी में बाबा’ गाने की वजह से मंच पर आने से रोका गया।

अनामिका ने कहा कि उन्हें ADM स्तर के अधिकारी ने उन्हें मंच पर जाने से रोक दिया था। उन्होंने आरोप लगाया कि अधिकारी ने हाथ जोड़कर माफी माँगते हुए कहा कि ऊपर से आदेश है कि आपको काव्य पाठ नहीं करने दिया जाए। इसका आयोजन बिहार सरकार के पर्यटन विभाग के कला मंच ने आयोजित किया था।

सोनपुर मेले में अनामिका को कविता पाठ करने की अनुमति नहीं

आपको बात दें, प्रख्यात सोनपुर मेले में शुक्रवार (25 नवंबर 2022) को हरिहर क्षेत्र मेले में अखिल भारतीय कवि सम्मेलन का आयोजन किया गया था। इसमें भाग लेने अनामिका भी पहुँची थीं। कार्यक्रम शुरू होने से पहले छपरा के ADM ने कार्यक्रम संचालक से कहा कि अनामिका जैन अंबर को छोड़कर बाकी सभी कवि काव्य पाठ करेंगे। वे नहीं करेंगी। उन्हें मंच नहीं आने दिया जाएगा।

इतना सुनने के बाद वहाँ मौजूद सारे कवि भड़क गए और इसे उन्होंने अपना अपमान बताया। इसके बाद सारे कवियों ने कार्यक्रम का बहिष्कार कर दिया। इसके बाद अनामिका अगले दिन पटना से वापस दिल्ली लौट आईं।

‘यूपी में का बा’ का जवाब देकर अनामिका ने योगी सरकार की उपलब्धियों को गिनाया था

जानकरी दें, यूपी में इस साल हुए विधानसभा चुनाव से पहले नेहा सिंह राठौड़ ने एक गाना गाया था, जिसका नाम था ‘यूपी में का बा’। यह वीडियो काफी वायरल हुआ था। इसमें यूपी सरकार की खिल्ली उड़ाई गई थी। इसके जवाब में अनामिका ने ‘यूपी में बाबा’ गाना गाया था और योगी आदित्यनाथ की उपलब्धियों के बारे में बताया था।

Latest news
Related news