मानव के लिए आक्सीजन की तरह जरूरी है ओजोन परत

  • सूरज की किरणों से कैंसर का सबसे बड़ा खतरा, बचने का काम करती है ओजोन लेयर 

इंडिया न्यूज, नई दिल्ली, (World Ozone Day): दुनियाभर में हर वर्ष 16 सितंबर को विश्व ओजोन दिवस या ओजोन परत संरक्षण दिवस मनाया जाता है। अक्सर ओजोन (लेयर) परत को लेकर सुनने या पढ़ने को मिल जाता है कि इसे सुरक्षित रखना है, ओजोन परत पिघल रही है आदि। इसके प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए भी कई कदम भी उठाए जाते हैं। इसी कड़ी में हर साल 16 सितंबर को विश्व ओजोन दिवस मनाया जाता है और लोगों को जागरूक किया जाता है कि ओजोन परत की कैसे सुरक्षा की जा सकती है।

धरती के वायुमंडल की एक परत है ओजोन

मनुष्य के शरीर के लिए जितनी जरूरी आक्सीजन है, उतनी ही जरूरत ओजोन परत भी है। बता दें कि सूरज से आने वाली किरणों से सबसे अधिक कैंसर का खतरा रहता है। इससे स्किन कैंसर भी हो सकता है। वहीं ओजोन धरती के वायुमंडल की एक परत है जो सूरज से सीधे आने वाली किरणों को रोकती है। यह सूरज की किरणों से एक प्रकार से छनकर धरती पर पहुंचती है।

ओजोन को एसी और फ्रिज की गैस भी पहुंचाती है नुकसान

हम घर पर एसी और फ्रिज का इस्तेमाल करते हैं और इनसे जो गैस निकलती है वो भी ओजोन परत को नुकसान पहुंचाती है। प्राकृतिक कारकों में सौर क्रिया, वायुमंडलीय संरचरण, पृथ्वी के रचनात्मक प्लेट किनारों से निकलने वाली गैस, नाइट्रस आॅक्साइड, प्राकृतिक क्लोरीन और केंद्रीय ज्वालामुखी से निकलने वाली गैसों से भी ओजोन परत को नुकसान पहुंचता है।

संयुक्त राष्ट्र महासभा ने 1964 में दिवस मनाने का ऐलान किया

ओजोन परत का अधिक महत्व होने के चलते ही संयुक्त राष्ट्र महासभा ने 19 दिसंबर 1964 को ओजोन परत के संरक्षण के लिए 16 सितंबर को अंतरराष्ट्रीय ओजन दिवस मनाने की घोषणा की। संयुक्त राष्ट्र और 45 अन्य देशों ने ओजोन परत को खत्म करने वाले पदार्थों पर मॉन्ट्रियल प्रोटोकॉल पर 16 सितंबर 1987 को हस्ताक्षर किए थे। इसके बाद पहली बार 16 सितबर 1995 को विश्व ओजोन दिवस मनाया गया। फ्रांस के भौतिकविदों फैबरी चार्ल्स और हेनरी बुसोन ने 1913 में ओजोन परत की खोज की थी।

ओजोन दिवस मनाने का यह है मकसद

ओजोन दिवस मनाने का उद्देश्य उन पदार्थों का प्रयोग अथवा इस्तेमाल कम करना है जिससे ओजोन परत को नुकसान पहुंचता हो। जैसे प्लास्टिक कंटेनर, या स्प्रे जिसमें क्लोरोफ्लोरोकार्बन हो, उनका बहुत अधिक उपयोग नहीं करना चाहिए। हमें पर्यावरण के अनुकूल उर्वरकों का प्रयोग करना चाहिए। वाहनों से ज्यादा धुआं निकलना,प्लास्टिक, टायर, रबर, को नहीं जलाना चाहिए क्यों ओजोन परत के खात्मे का यह सबसे बड़ा कारण हैं।

अमेरिका के बिजनेसमैन ने धरती बचाने के लिए दान की 50 साल पुरानी कंपनी

अमेरिका के बिजनेसमैन यवोन चौनार्ड ने जलवायु संकट से निपटने के लिए लगभग 50 साल पुरानी अपनी कंपनी के सारे राजस्व को दान में देने का फैसला किया है। यह अनोखा दान करते हुए उन्होंने कहा कि धरती खतरे में है इसे बचाओ। उन्होंने कपड़ों की अमेरिकी रिटेलर कंपनी पेटागोनिया का काम 50 साल पहले शुरू किया था। चौनार्ड के साथ उनकी पत्नी और उनके दो वयस्क बच्चों ने परिधान कंपनी में अपनी सारी संपत्ति को दान करने का ऐलान किया है।

ये भी पढ़ें: यूपी के लखनऊ में भारी बारिश के कारण दीवार ढहने से 9 लोगों की मौत

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे !

Connect With Us : Twitter | Facebook Youtube

 

Latest news
Related news