आंध्र प्रदेश में कोनसीमा का नाम बदलने पर भड़की हिंसा, मंत्री और विधायक के घर को किया आग के हवाले

इंडिया न्यूज, आंध्र प्रदेश:
आंध्र प्रदेश के कोनसीमा जिले का नाम बदलकर डॉ. बी.आर. अंबेडकर कोनसीमा करने के विरुद्ध शुरू हुआ प्रदर्शन हिंसा में तब्दील हो गया। प्रदर्शनकारियों ने अमलापुरम में मंत्री विश्वरूप का घर और विधायक पी किशोर का घर फूंक डाला। इस हिंसा में कई पुलिसकर्मी और प्रदर्शनकारी घायल भी हुए हैं। प्रदर्शनकारियों ने पुलिसकर्मियों पर पथराव किया। साथ ही एक पुलिस वाहन और एक निजी बस को आग के हवाले कर दिया।

प्रदर्शनकारियों ने चलो कोनसीमा मार्च निकाला

मंगलवार को प्रदर्शनकारियो ने जिले का नाम बदलने के खिलाफ “चलो कोनसीमा” मार्च निकाला था। इस मार्च में कोनसीमा साधना समिति के सदस्य शामिल थे। जिनकी पुलिस के साथ झड़प हुई। इस झड़प में पुलिस और प्रदर्शनकारी घायल हुए हैं।

दरअसल, कोनसीमा जिले का नाम बदलकर अंबेडकर जिला किए जाने के खिलाफ शुरू हुई विरोध रैली को पुलिस ने रोक दिया जिससे प्रदर्शनकारी भड़क उठे। प्रदर्शनकारियों ने अमलापुरम में मंत्री विश्वरूप के घर में आग लगा दी। मंत्री के परिवार के सदस्य घर छोड़कर चले गए। जिले का नाम बदलने से क्षेत्र में तनाव का माहौल पैदा हो गया है। प्रदर्शनकारियों की मांग है कि जिले नाम नहीं बदला जाना चाहिए और कोनसीमा को जिला ही रहना चाहिए।

प्रदर्शनकारियों ने किया पुलिस पर हमला

यह प्रदर्शन कोनसीमा जिला साधना समिति के तत्वावधान में हुआ। जिसमें सैकड़ों लोगों ने अमलापुरम में घंटाघर केंद्र, मुम्मिडीवरम गेट और अन्य स्थानों पर आंदोलन किया। बढ़ते हंगामे को देखते हुए भारी मात्रा में पुलिस को तैनात किया गया। पुलिस ने कुछ युवकों को गिरफ्तार किया। पुलिस से बचने के लिए कुछ युवक कलेक्ट्रेट की ओर भागे। पुलिस ने उनका पीछा किया। जिसके बाद प्रदर्शनकारियों ने अमलापुरम क्षेत्र के अस्पताल में पुलिस पर हमला कर दिया।

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे !

ये भी पढ़ें : जानिए कुतुब मीनार का इतिहास और विवाद क्या है?

ये भी पढ़ें : ज्यादा धूप आंखों के लिए नुकसानदायक, इस तरह करें देखभाल

Connect With Us : Twitter | Facebook Youtube

SHARE
Latest news
Related news