पशुओं में मुंह-खुर की बीमारी से प्रभावित क्षेत्रों में टीमें तैनात: तृप्त बाजवा

प्रभावित गांवों के 5 से 10 किलोमीटर के दायरे में आते सभी पशुओं की वैक्सीनेशन करवाई
इंडिया न्यूज, चंडीगढ़:
राज्य के कुछ जिलों में पशुआें में मुंह-खुर की बीमारी के फैलने की रिपोर्टों का गंभीर नोटिस लेते हुए पंजाब के पशु पालन विभाग द्वारा पशु माहिरों और डॉक्टरों की टीमों को तत्काल तौर पर प्रभावित जिलों में तैनात कर दिया गया है। प्रभावित गांवों के 5 से 10 किलोमीटर के दायरे में आते 100 प्रतिशत पशुधन की रिंग वैक्सीनेशन पूरी करवा ली गई है। इस संबंधी जानकारी देते हुए पशु पालन विभाग के मंत्री तृप्त रजिन्दर सिंह बाजवा ने बताया कि रिपोर्टों के अनुसार पंजाब के लुधियाना, मोगा और श्री मुक्तसर साहिब जिलों में मुंह-खुर की बीमारी कुछेक पशुओं को हुई है। उन्होंने बताया कि सरकार ने तत्काल कार्रवाई करते हुए सभी प्रभावित जिलों में मुंह-खुर की बीमारी की रोकथाम के लिए रिंग वैक्सीन की 81 हजार खुराकें बांटीं गई थीं। बाजवा ने बताया कि वह निजी तौर पर रोजाना प्रभावित जिलों से रिपोर्ट ले रहे हैं।
बाजवा ने और ज्यादा जानकारी देते हुए बताया कि राज्य में मुंह-खुर टीकाकरण प्रोग्राम केंद्र सरकार की एनएडीसीपी स्कीम के अधीन चलाया जाता है जिसके अंतर्गत राज्य में मुंह-खुर की वैक्सीन केंद्र सरकार द्वारा ही दी जाती है। उन्होंने बताया कि इस स्कीम के अंतर्गत राज्य में पिछले साल 17 अक्टूबर, 2020 को मुंह-खुर टीकाकरण शुरू हुआ था जिस अधीन राज्य के सभी पशुधन की वैक्सीनेशन की जानी थी। उन्होंने बताया कि कुछ कारणों से वैक्सीन के सैंपल फेल होने के कारण वैक्सीन निश्चित मापदंडों पर खरी नहीं उतर सकी और केंद्र सरकार ने पशु पालन विभाग से यह वैक्सीन वापस ले ली गई थी और उनकी तरफ से यह कहा गया था कि नई वैक्सीन की उपलब्धता होने के बाद ही यह वैक्सीन दोबारा सप्लाई की जाएगी।

Latest news
Related news