पाक और भारत से कश्मीर मुद्दे पर कोई दखल नहीं: हक्कानी

इंडिया न्यूज, काबुल:
तालिबान के अनस हक्कानी ने कहा कि पाकिस्तान का साथ तो है लेकिन इसके साथ ही साफ कर दें कि कश्मीर मुद्दे पर कोई दखल नहीं देंगे। तालिबान भारत समेत अन्य देशों के साथ अच्छे संबंध चाहता है अमेरिका की करीब दो दशकों बाद अपने मुल्क वापसी हो गई है। अब लगभग पूरे अफगानिस्तान पर तालिबान का कब्जा है। इस नए इस्लामिक शासन को लेकर चचार्एं विश्व स्तर पर हैं।
जलालुद्दीन हक्कानी के बेटे अनस ने भारत और पाकिस्तान के साथ संबंध और कश्मीर मुद्दे पर तालिबान का पक्ष रखा।  उन्होंने कहा कि  हमारी नीति के अनुसार, हम दूसरों के मामलों में दखल नहीं देंगे और दूसरों से भी हमारे मामलों में हस्तक्षेप नहीं करने की उम्मीद करते हैं। हम सौहार्दपूर्ण तरीकों से मसले सुलझाना चाहते हैं। हमारे दरवाजे सभी के लिए खुले हैं। हम बाकी दुनिया के साथ अच्छे संबंध चाहते हैं। हमने 20 साल संघर्ष किया है। हमारे खिलाफ गलत प्रोपेगैंडा चलाया जा रहा है और यह गलत है। हक्कानी नेटवर्क कुछ नहीं है। हम सभी के लिए काम कर रहे हैं। दुनियाभर और खासतौर से भारत की मीडिया हमारे खिलाफ गलत प्रचार कर रही है। यह माहौल खराब कर रहे हैं। युद्ध में कभी कोई पाकिस्तानी हथियार का इस्तेमाल नहीं हुआ। ये आरोप झूठे हैं और निराधार हैं। बोले कि हम भारत के साथ अच्छे रिश्ते चाहते हैं। हम नहीं चाहते कि कोई हमारे बारे में गलत सोचे। भारत ने हमारे दुश्मन की 20 सालों तक मदद की है, लेकिन हम सब भुलाकर संबंध आगे ले जाने के लिए तैयार हैं।
कश्मीर हमारे अधिकार क्षेत्र में नहीं है और दखल देना हमारी नीति के खिलाफ है। हम हमारी नीति के खिलाफ कैसे जा सकते हैं? यह साफ है कि हम हस्तक्षेप नहीं करेंगे।
वे बोले कि हम आने वाले दिनों में नीतियां पूरी तरह साफ कर देंगे। हम अफगानिस्तान के लोगों के लिए पूरी मदद चाहते हैं। हम चाहते हैं कि केवल भारत ही नहीं, बल्कि पूरी दुनिया आए और हमारा समर्थन करे।

SHARE
Latest news
Related news