मस्क जल्द भारत ला रही स्टारलिंक सैटेलाइट इंटरनेट

अप्रूवल का आना अभी बाकी
जानिए चंद सेकेंड्स में कैसे सैटेलाइट से मिलेगा हाई-स्पीड इंटरनेट
इंडिया न्यूज, नई दिल्ली:
दिनों दिन हर कंपनी आधुनिकता की ओर बढ़ रही है। आधुनिकता की इस दौड़ में एलन मस्क की कंपनी स्टारलिंक का हाई-स्पीड सैटेलाइट इंटरनेट भारत में जल्द उपलब्ध होने जा रहा है। इस संबंध में अप्रूवल की प्रक्रिया चल रही है। इस सर्विस के भारत में शुरू होने के बाद दूरदराज के इलाकों में भी हाई-स्पीड इंटरनेट का सुविधा का लाभ मिल सकेगा। बता दें कि इस समय भारत में वायरलेस इंटरनेट के नाम पर वायमैक्स सर्विसेस और मोबाइल इंटरनेट उपलब्ध है, पर यह सैटेलाइट से डायरेक्ट लिंक न होकर टेरेस्टेरियल नेटवर्क से जुड़ा हुआ है। लेकिन जिन इलाकों में टॉवर्स नहीं होते, वहां इंटरनेट सर्विसेस नहीं मिल पाती। इतना ही नहीं वायमैक्स से मिलने वाला इंटरनेट काफी धीमा भी होता है।

आखिर भारत में सैटेलाइट से इंटरनेट कब उपलब्ध होगा

भारत में अभी रेगुलेटर से अप्रूवल की प्रक्रिया चल रही है। जैसे ही अप्रूवल मिल जाती है तो अगले वर्ष भारत में एलन मस्क की कंपनी स्टारलिंक का सैटेलाइट इंटरनेट उपलब्ध हो जाएगा। स्टारलिंक की आॅफिशियल वेबसाइट के अनुसार 99 डॉलर यानी करीब 7,200 रुपए में इसकी प्री-बुकिंग शुरू हो चुकी है। यह अमाउंट पूरी तरह से रिफंडेबल है। इस समय सैटेलाइट से हाई-स्पीड इंटरनेट आॅस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड, कनाडा, चिली, पुर्तगाल समेत 14 देशों में मिल रहा है। स्टारलिंक ब्रॉडबैंड की बात करे तो इसने दुनियाभर में 90 हजार सब्सक्राइबर्स हासिल कर लिए हैं। स्टारलिंक से सैटेलाइट इंटरनेट इस समय बीटा (टेस्टिंग) वर्जन में है। जहां तक स्पीड की बात है, डाउनलोड 50 एमबीपीएस से 150 एमबीपीएस के बीच है।

Latest news
Related news