भारतीयों को कनाडा में है हेट क्राइम का खतरा, भारत सरकार ने संभलकर रहने की जारी की एडवाइजरी

इंडिया न्यूज, नई दिल्ली, (Indians In Canada) : भारतीयों को कनाडा में है हेट क्राइम का खतरा है। इसे ध्यान में रखकर भारत सरकार ने अपने नागरिकों को संभलकर रहने की एडवाइजरी जारी की है। भारत के विदेश मंत्रालय ने अपने बयान में कहा है कि कनाडा में हेट क्राइम, सांप्रदायिक हिंसा और भारत विरोधी गतिविधियों में इनदिनों तेजी आई है। ऐसे में भारतीय नागरिकों और कनाडा की यात्रा करने वाले हर भारतीयों को यह सलाह दी जाती है कि वे सावधानी पूर्वक रहें और यात्रा करें।

पाकिस्तान प्रायोजित खालिस्तानी तत्वों को बढ़ावा देने का है यह मामला

यह पूरा मामला पाकिस्तान प्रायोजित खालिस्तानी तत्वों को बढ़ावा देने के लिए किया जा रहा है। कनाडा के ब्रैम्पटन में जिस दिन तथाकथित सिख जनमत संग्रह का आयोजन किया गया, उसी दिन पाकिस्तानी कॉन्सल के जनरल जनबाज खान ने वैंकूवर में दो खालिस्तान समर्थक गुरुद्वारों का दौरा किया और इसे हवा दिया। इसके बाद तथाकथित जनमत संग्रह कराने को लेकर भारत और कनाडा के बीच राजनयिक विवाद के बीच विदेश मंत्रालय की सलाह आई है। कनाडा में खालिस्तान समर्थक तत्वों की गतिविधियां हाल के वर्षों में द्विपक्षीय संबंधों में अड़चन रही है।

भारत विरोधी गतिविधियों में तेजी से हुई है वृद्धि

विदेश मंत्रालय ने कनाडा में रह रहे भारतीय नागरिकों और छात्रों के लिए एडवाइजरी जारी कर कहा है कि कनाडा में हेट क्राइम, सांप्रदायिक हिंसा और भारत विरोधी गतिविधियों की घटनाओं में तेजी से वृद्धि हुई है। इन अपराधों को देखते हुए, भारतीय नागरिकों और कनाडा में पढ़ाई करने के लिए जाने वाले छात्रों या लोगों को यह सलाह दी जाती है कि वे सावधानी बरतते हुए सतर्कता पूर्वक रहें।

कनाडा सरकार से की गई कार्रवाई की मांग

भारतीय विदेश विदेश मंत्रालय ने कनाडा में हाल ही में हुई सांप्रदायिक घटनाओं को कनाडा के अधिकारियों के समक्ष उठाया है और उनसे अपराधों की जांच कर उचित कार्रवाई करने के लिए कहा है। एडवाइजरी में कहा गया है कि कनाडा में अब तक इन अपराधों के अपराधियों को न्याय के कटघरे में नहीं लाया गया है।

भारतीय उच्चायोग से ले सकते हैं मदद

एडवाइजरी में यह स्पष्ट रूप से कहा गया है कि कनाडा में भारतीय नागरिक और छात्र ओटावा में उच्चायोग या टोरंटो और वैंकूवर में वाणिज्य दूतावास के साथ वेबसाइट या मदद पोर्टल के जरिए संपर्क कर अपनी समस्याओं को रख सकते हैं। इस तरह का पंजीकरण भारतीय मिशनों को किसी भी आवश्यकता या आपात स्थिति की स्थिति में कनाडा में भारतीय नागरिकों के साथ बेहतर ढंग से जुड़ने की अनुमति देगा।

कनाडा में भारतीय मूल के करीब 1.6 मिलियन लोग हैं रहते

गौरतलब है कि कनाडा में भारतीय मूल के करीब 1.6 मिलियन लोग रहते हैं। इसके अलावा कनाडा में भारतीय मूल के 17 सांसद और तीन कैबिनेट मंत्री भी हैं, जिनमें रक्षा मंत्री अनीता आनंद भी शामिल हैं। इसके बावजूद वर्तमान समय में स्थिति भारतीय के लिए प्रतिकूल बनी हुई है।

ये भी पढ़े : सरकार का फोकस अब ग्रीन ग्रोथ और ग्रीन जॉब्स पर : प्रधानमंत्री

ये भी पढ़े :  Kerala Bandh : छापों के विरोध में केरल में पीएफआई का प्रदर्शन, तोडफोड़, बम फेंके

ये भी पढ़े : बारिश से अभी नहीं मिलेगी राहत, 17 राज्यों में अलर्ट

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे !

Connect With Us : Twitter | Facebook Youtube

 

 

Latest news
Related news