हरियाणा-112: आमजन में विश्वास, अपराधियों में भय, यही हरियाणा पुलिस का ध्येय : गृह मंत्री

कहा-पहले 1000 घंटों में 56,113 लोगों के पास औसतन 16 मिनट 28 सेकेंड में पहुंची पुलिस सहायता
किसी भी समय पुलिस सहायता व आपराधिक वारदात की सूचना के लिए तुरंत 112 पर करें कॉल
हरियाणा-112 से मिल रहा है महिलाओं को विशेष लाभ
इंडिया न्यूज, चंडीगढ़:
गृह मंत्री अनिल विज ने कहा कि ‘हरियाणा-112 हरियाणा आपातकालीन त्वरित सहायता प्रणाली’ की शुरुआत होने से एक ओर जहां अपराधियों में भय का माहौल पैदा हो रहा है, वहीं दूसरी ओर इसके जरिए पुलिस, एंबुलेंस और फायरब्रिगेड जैसी इमरजेंसी सेवाएं 600 से अधिक इमरजेंसी रिस्पांस व्हीकल्स यानि ईआरवी के जरिए 15 से 20 मिनट की समयावधि में जरूरतमंद नागरिकों तक पहुंचाई जा रही हैं। उन्होंने नागरिकों से अनुरोध करते हुए कहा कि किसी भी समय पुलिस सहायता व आपराधिक वारदात की सूचना के लिए तुरंत 112 पर कॉल करें।
विज ने बताया कि इस नई पहल के बहुत ही सकारात्मक परिणाम देखने को मिल रहे हैं। ईआरवी की वजह से प्रदेश में पुलिस प्रैजेंस बढ़ी है जिससे नागरिकों में सुरक्षा का भाव मजबूत होने के साथ-साथ अपराधियों व असामाजिक तत्वों में भय पैदा हुआ है। नए सिस्टम से नागरिकों को आस भी बंध गई है कि अगर आपात स्थिति में 112 पर सूचना दी तो सुरक्षा के साथ-साथ आरोपित पकड़े भी जाएंगे। हरियाणा-112 से लोगों को समय पर पहुंचाई जा रही मदद से एक तरफ जहां लोगों का पुलिस के प्रति विश्वास और अधिक बढ़ा है, वहीं पुलिस की कार्यप्रणाली में भी काफी पारदर्शिता आई है।
उन्होंने बताया कि पहले 1000 घंटों में आई कॉल में से 66861 कॉल उन लोगों की थीं, जिन्हें मदद की आवश्यकता थी। कुल प्राप्त कार्रवाई योग्य कॉल में से 52393 लोगों द्वारा पुलिस सहायता, 5860 ने एम्बुलेंस सेवाओं और 455 लोगों ने अग्निशमन सेवाओं के लिए अनुरोध किया। कुल डिस्पैच कॉल में से मल्टी- सर्विस डिस्पैच भी थे जिसमें सिस्टम द्वारा एक ही कॉल पर कई सेवाओं को डिसपैच किया गया।
विज ने बताया कि हरियाणा पुलिस द्वारा हरियाणा-112 हेल्पलाइन के लिए 15 से 20 मिनट के अंदर कॉलर तक पहुंचने की समय-सीमा तय की गई है, लेकिन ईआरवी पर तैनात पुलिसकर्मियों ने औसतन 16 मिनट 28 सेकेंड में पुलिस मदद पहुंचाकर सेवा सुरक्षा सहयोग के नारे को सार्थक किया है। उन्होंने बताया कि पंचकूला के स्टेट इमरजेंसी रिस्पांस सेंटर में 13 जुलाई सुबह 8 बजे से 23 अगस्त के बीच कार्रवाई योग्य कॉल के माध्यम से कुल 470189 कॉलर्स ने सहायता के लिए कॉल किया।

SHARE
Latest news
Related news