Gujarati Family Death Case अमेरिका में प्रवेश कराने के लिए दिए थे मृतक परिवार ने 75 लाख रुपए, मानव तस्करी  

Gujarati Family Death Case

इंडिया,न्यूज़, वाशिंगटन:

Gujarati Family Death Case कनाडा अमेरिका की सीमा पर गुजराती परिवार की मौत की गुत्थी सुलझाने के लिए कैनेडियन पुलिस पूरा प्रयास कर रही है। पुलिस को पता चला है कि मृतक पटेल परिवार ने कनाडा से अमेरिका भेजने के लिए कबूतरबाजों को 75 लाख रुपए अदा किए थे। लेकिन अमेरिका सीमा से पहले ही पटेल परिवार के चारों सदस्यों की मौत हो गई। जिसके कारण अमेरिका ले जा रहे व्यक्ति ने चारों के शवों को वहीं छोड़ दिया। कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो ने इस घटना को वीभत्स करार दिया है। उन्होंने कहा कि सीमा पर इस तरह की घटनाओं को रोकने के लिए हम जरूरी कदम उठाएंगे।

Gujarati Family Death Case
Gujarati Family Death Case

टूरिस्ट वीजा पर कनाडा गया था पटेल परिवार Gujarati Family Death Case

कनाडा के अधिकारियों के मुताबिक गुजरात से जगदीश बलदेव भाई पटेल अपनी पत्नी और दो बच्चों के साथ कनाडा में टूरिस्ट वीजा पर आया था। लेकिन अब वह अमेरिका जाने के लिए किसी के संपर्क में आया और इसके लिए पटेल ने 75 लाख रुपए भी दिए। गुजराती परिवार की संदिग्ध मौत की जांच करते हुए कनाडा के पुलिस अधिकारियों के हाथ कुछ ऐसे सबूत हाथ लगे हैं जिसने उलझन में डाल दिया है। अब पुलिस दर्दनाक मौत की घटना से जुड़े कई सवालों के जवाब तलाशने में लगी है। पुलिस का यह मामला सरासर मानव तस्करी का लग रहा है।

पुलिस को घटना की कैसे मिली जानकारी Gujarati Family Death Case

कनाडा से अमेरिका जाने के लिए अक्सर एशिया के लोग इस तरह के जोखिम भरे कदम उठाते हैं। इसी प्रकार के एक मामले की जानकारी अमेरिकी अधिकारियों को मिली कि कनाडा से अमेरिका आने के लिए कुछ लोगों का जत्था बॉर्डर के नजदीक आ चुका है। मामले का पता चलते ही अमेरिकी प्रशासन के कुछ अधिकारियों ने कनाडा सरकार से संपर्क साधा और मामले की जानकारी साझा की। इसके बाद कैनेडियन टीम को चारों के शव बर्फ के बीच पड़े हुए मिले थे।

Gujarati Family Death Case
Gujarati Family Death Case

Read More: US-Canada Border Incursions अमेरिका में घुसने की फिराक में था भारतीय परिवार, सर्दी ने रोक दी चारों की सांसें

Connect With Us : Twitter Facebook

Latest news
Related news