आईबी के पूर्व अधिकारी को इसरो जासूसी मामले के आरोप में लंदन जाने से रोका गया

इंडिया न्यूज, कोच्चि, (Former IB Officer) : आईबी के पूर्व अधिकारी को इसरो जासूसी मामले के आरोप में लंदन जाने से रोक दिया गया। उक्त अधिकारी अपनी पत्नी के साथ लंदन जा रहे थे। उन्हें उस वक्त झटका लगा जब वह शनिवार को कोच्चि अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे पर अपना सामान चेक करवा रहे थे। उन्हें कहा गया कि उनका लुक आउट नोटिस है। जिसे सीबीआई द्वारा जारी किया गया है और इसलिए वह अपनी यात्रा नहीं कर सकते है।

नोटिस के बारे में कभी नहीं किया गया सूचित

इंटेलिजेंस ब्यूरो के सहायक निदेशक के रूप में सेवानिवृत्त होने वाले थामस ने बताया कि यह उनके लिए एक कू्रर कार्य है। उन्हें इस नोटिस के बारे में कभी सूचित नहीं किया गया। अगर उन्हें पहले सूचित किया गया होता तो जरूर इसका निवारण करते। हम अपनी बेटी से मिलने के लिए जा रहे थे। जो लंदन में है और हमने अपने टिकट के लिए 3 लाख रुपये खर्च भी कर दिए है। उन्होंने आगे कहा कि वह कानूनी निवारण की मांग करेंगे।

गौरतलब है कि थामस को इसरो जासूसी मामले से जोड़ा गया था, जो 1994 में सामने आया था। जब इसरो के वरिष्ठ वैज्ञानिक एस नंबीनारायणन को एक अन्य वरिष्ठ अंतरिक्ष एजेंसी के अधिकारी, मालदीव की दो महिलाओं और एक अन्य वरिष्ठ अंतरिक्ष एजेंसी के अधिकारी के साथ जासूसी करने के आरोप में गिरफ्तार किया था।

सीबीआई ने उन्हें 1995 में कर दिया था बरी

सीबीआई ने उन्हें 1995 में बरी कर दिया और तब से वह उन लोगों के खिलाफ कानूनी लड़ाई लड़ रहे हैं। उन्होंने महसूस किया कि उन्हें फंसाया गया था और गत वर्ष सुप्रीम कोर्ट ने न्यायमूर्ति डी.के. जैन (सेवानिवृत्त) जांच करेंगे कि क्या नंबीनारायणन को झूठा फंसाने के लिए तत्कालीन पुलिस अधिकारियों के बीच कोई साजिश थी।

शीर्ष अदालत ने जैन की रिपोर्ट के माध्यम से सीबीआई को एक नई जांच करने का आदेश दिया और एजेंसी ने दो सहित 18 लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की।

ये भी पढ़े : एकता कपूर इस स्वतंत्रता दिवस पर लेकर आ रही हैं ‘ये दिल मांगे मोर’, इस कॉन्सेप्ट पर आधारित होगा शो

ये भी पढ़े : आमिर खान की ‘लाल सिंह चड्डा’ हुई ऑनलाइन लीक, फिल्म की कमाई पर पड़ेगा असर

Connect With Us : Twitter | Facebook Youtube|

 

Latest news
Related news