रक्षा मंत्री ने सेना के हवाले किया स्वदेशी मल्टी मोड ग्रेनेड

इंडिया न्यूज, नई दिल्ली:
नई दिल्ली। प्राइवेट सेक्टर ने महज पांच महीने में ही बेहतरीन काम करके एक लाख से अधिक मल्टी मोड ग्रेनेड तैयार कर दिए हैं, जिस पर रक्षा मंत्री राजनाथ ने उस प्राइवेट सेक्टर की तारीफ की है जिसे भी यह जिम्मेदारी सौंपी गई थी। रक्षा मंत्री के अनुसार गत मार्च में इसे मंजूर किया गया था और महज पांच माह में ही इस सेक्टर ने एक लाख से अधिक मल्टी मोड ग्रेनेड का प्रोडेक्शन किया है जो काबिलेतारीफ है।
राजनाथ ने कहा कि इसमें एक खुशी की बात यह भी है कि ये प्रोडेक्शन ऐसे समय में किया गया है जब देश में कोरोना की दूसरी लहर चरम पर थी और इस दौरान देश का पूरा सिस्टम रुक सा गया था। ऐसे समय में भी इस प्रोडेक्शन को मुकाम तक पहुंचाकर कर इस सेक्टर ने देश को मजबूत किया है। रक्षा मंत्री ने यह भी कहा कि वो मानते हैं कि ये रक्षा क्षेत्र में पब्लिक-प्राइवेट पार्टनरशिप का बेहतरीन उदाहरण है। नागपुर में एक समारोह के दौरान रक्षा मंत्री ने ये बातें कहीं। ये समारोह खासतौर पर प्राइवेट सेक्टर में बने ग्रेनेड को या यूं कहें कि स्वदेशी मल्टी मोड ग्रेनेड को सेना को सौंपने के लिए आयोजित किया गया था। राजनाथ सिंह ने डिफेंस प्रोडेक्शन एंड एक्सपोर्ट प्रमोशन पालिसी 2020 को एक बड़ा कदम बताया है। उन्होंने कहा है कि वो इसको लेकर पूरी तरह से आशांवित हैं कि ये नीति के तहत देश का टर्नओवर 2025 तक एक लाख 75 हजार करोड़ रुपये तक हो जाएगा। इससे देश की सेना को जहां मजबूती मिलेगी वहीं अर्थव्यवस्था भी मजबूत होगी।
Latest news
Related news