कांग्रेस नेता जाखड़ बोले पार्टी ने नोटिस भेजकर आत्म सम्मान को पहुंचाई ठेस, जमीर को ललकारा

  • पार्टी की ओर से भेजे गए नोटिस से नाराज और आहत है पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष
  • पार्टी हाईकमान से मिलने के बारे में कहा-अब मिलने का वक्त चला गया
  • सियासी गलियारों में जाखड़ के किसी दूसरे दल में जाने की लगाई जा रही है अटकलें

कांग्रेस नेता सुनील जाखड़ को पार्टी की तरफ से नोटिस भेजे जाने के बाद से वे काफी नाराज दिखाई दे रहे हैं। उनका कहना है कि इस नोटिस से उनके आत्मसम्मान को काफी ठेस पहुंची है। ऐसा करके उनके जमीर को ललकारा गया है।

इंडिया न्यूज, चंडीगढ़। पंजाब कांग्रेस के सुलझे हुए नेता माने जाने वाले सुनील जाखड़ पार्टी की अनुसाशन समिति द्वारा दिए गए नोटिस और इसके बाद दो साल के लिए संस्पेंड़ किए जाने की सिफारिश किए जाने से बेहद नाराज है। अब ऐसा लगने लगा है कि शायद जाखड़ कांग्रेस को अलविदा कह सकते है। लेकिन अभी उन्होंने इस बारे में कुछ भी स्पष्ट नहीं किया है।

वहीं राजनैतिक गलियारों में चर्चा चल रही है कि जाखड़ पार्टी को अलविदा कह सकते है। जाखड़ ने कहा हाईकमान ने नोटिस भेजकर उनके आत्मसम्मान को ठेस पहुंचाई है और जमीर को ललकारा है। जाखड़ ने यह कहकर सोनिया गांधी और राहुल गांधी से मिलने से भी इंकार कर दिया है और कहा है कि अब मिलने का वक्त चला गया है।

50 साल में पार्टी की छवि को नहीं होने दिया धूमिल

उन्होंने कहा कि तीन पुश्तों से उनके परिवार का कांग्रेस के साथ रिश्ता है। जाखड़ ने कहा कि 50 साल के अपने राजनीतिक कैरियर में भी कभी पार्टी की गरिमा को धूमिल होने नहीं दिया।

इसके बावजूद पार्टी ने उन्हें कारण बताओ नोटिस जारी करके उनके आत्मसम्मान को ठेस पहुंचाई है। सुनील जाखड़ ने कहा कि कांग्रेस में चापलूसी और जी हुजूरी करने वाले नेताओं से ऐतराज है क्योंकि वह पार्टी को गुमराह करते हैं। उन्होंने कहा कि उन्हें हिंदू होने के कारण नजर अंदाज किया गया है।

दूसरे दल में शामिल होने पर बोले थोड़ा सब्र रखो

सुनील जाखड़ ने भाजपा या किसी दूसरे दल में शामिल होने पर उन्होंने थोड़ा सब्र करने की बात की है। लेकिन देखना अब यह है कि जाखड़ अब अगला क्या कदम उठाने की तैयारी कर रहे है। क्योंकि जाखड़ ने पार्टी हाईकमान की ओर से दिए गए नोटिस का भी कोई जवाब नहीं दिया था।

जिसके बाद अनुसाशन कमेटी की मीटिंग में उनकों दो वर्ष के लिए संस्पेंड करने की सिफारिश की गई थी। लेकिन अंतिम फैसला सोनिया गांधी को लेना है।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस को देखना होगा कि किसके कहने पर नोटिस जारी हुआ, इतना साहस उसमें कैसे आ गया। जाखड़ पर आरोप लगा है कि उन्होंने पार्टी का अनुशासन तोड़ा है। इसके लिए उन्हें पार्टी के सभी पदों से हटाने और दो साल के लिए निलंबित करने की सिफारिश की गई है।

हमें Google News पर फॉलो करे- क्लिक करे !

यह भी पढ़ें : Priyanka Chopra ने अपने वॉक-इन क्लोजेट की फोटो शेयर की, शूज और बैग्स का है शानदार कलेक्शन!

यह भी पढ़ें : Ajay Devgan और Kichha Sudeep के बीच हुई हिंदी भाषा को लेकर तकरार, जानें पूरा मामला

यह भी पढ़ें : Selfie का फर्स्ट शेड्यूल पूरा हुआ, निर्देशक राज मेहता ने इस स्टार्स का किया धन्यवाद

Connect With Us : Twitter | Facebook Youtube

Latest news
Related news